देश का पहला प्लान्ड हिल स्टेशन है लवासा, नेचर लवर्स के लिए है बेस्ट जगह

 14 Aug 2021 02:54 PM

मुंबई। भारत में ऐसी कई अनदेखी और गुमनाम जगह हैं, जिनके बारे में सिर्फ कुछ ही लोगों को पता होता है। हर कोई ऐसी जगहों पर घूमने जाना पसंद करता है। एक ऐसी ही जगह महाराष्ट्र में भी है, पुणे से महज 60 किलोमीटर दूर वेस्टर्न घाट में भारत का पहला प्लान्ड हिल स्टेशन लवासा स्थित है। इसकी मानव निर्मित झील 90 छोटी-बड़ी धाराओं को मिलाकर बनाई गई है, जिसकी अधिकतम गहराई 100 फीट है। लवासा शहर 15 पहाड़ियों और घाटियों में बना है, जो 25000 एकड़ के क्षेत्र को कवर करता है। जिसका लैंडस्केप, लुक और डिजाइन इटैलियन शहर पोर्तोफिनो से इंस्पायर्ड होकर बनाया गया है।  

टूरिस्ट्स की सभी जरूरतों का रखा जाता है ख्याल

मुंबई से लवासा की दूरी करीब 187 किलोमीटर है। इस शहर की कई सड़कों और बिल्डिगों को भी पोर्तोफिनो में मौजूद सड़कों का नाम दिया गया है। अपनी बेहतरीन खूबसूरती की वजह से यह शहर एक परफेक्ट टूरिस्ट डेस्टिनेशन है। यहां आने वाले टूरिस्ट्स की सभी जरूरतों और लग्जरी का ख्याल रखा जाता है। मायानगरी मुंबई से लेकर अलग-अलग राज्यों से लोग यहां घूमने आते हैं।

एडवेंचर्स लोगों के लिए है बेस्ट जगह

नेचर लवर्स के साथ ही बड़ी संख्या में एडवेंचर पसंद करने वाले लोग भी लवासा आते हैं। यहां माउंटेनियरिंग, ट्रैकिंग, कैंपिंग और लेक में वॉटर स्पोर्ट्स का मजा उठाया जा सकता है। चारों तरफ मौजूद हरियाली के बीच टेमघर डैम और वरसगांव लेक स्थित है। इस शहर की खास बात यह है कि यहां का मौसम साल भर सुहाना बना रहता है। यहां आज आयुर्वेदिक सेंटर्स में स्पा और मसाज का भी लुत्फ उठा सकते हैं।

शहर में कहा-कहा घूम सकते हैं

लेकशोर वाटर स्पोर्ट्स

लवासा वरसगांव झील के तट पर मौजूद है, जिसकी वजह से यहां कई वाटर स्पोर्ट्स एक्टिविटीज देखने को मिलती हैं। यहां जेट स्की, स्पीड बोट राइड, पैडल बोटिंग जैसे कई वाटर स्पोर्ट्स एक्टिविटीज करने का मौका मिलता है। यहां वाटर स्पोर्ट्स करने का समय सुबह 9 से शाम 6 बजे तक है।

दासवे व्यू पॉइंट

दासवे व्यू पॉइंट, लवासा हिल स्टेशन की सबसे अच्छी जगहों में से एक है। इस पॉइंट से पहाड़ों की खूबसूरती, शानदार झीलें और नदियों को देखा जा सकता है। यही वजह है कि इस जगह को दासवे व्यू पॉइंट कहा जाता है। यहां से सूर्य को अस्त होते हुए भी देखा जा सकता है।

देवकुंड वॉटरफॉल

लवासा में स्थित देवकुंड झरना किसी छिपे हुए रत्न से कम नहीं है। 20 फीट की ऊंचाई से गिरने वाला पानी यहां पहुंचने वाले सभी सैलानियों को तरोताजा कर देता है। यहां पर देवकुंड पर्यटन टीम हर समय मौजूद रहती है, जो यहां पहुंचने वाले हर सैलानी को कैंपिंग, ट्रेकिंग और एडवेंचर जैसी सभी एक्टिविटी की पूरी जानकारी देती है। इससे पर्यटकों को यहां धूमने में आसानी होती है। यहां पर छोटे-छोटे कुछ गांव भी हैं। जहां सैलानी स्वादिष्ट भोजन कर अपनी ट्रिप को और भी यादगार बना सकते हैं।

घनगड किला

घनगड किला ताम्हिनी घाट के मध्य में स्थित है। यहां आप ट्रैकिंग का भी मजा ले सकते हैं। मध्य काल में बने इस किले को पेशवाओं, मराठा और अंग्रेजों के मध्य हुए कई युद्धों में इस्तेमाल किया गया था।

टेमघर बांध

मुथा नदी पर स्थित टेमघर बांध में दोस्तों, परिवार या पार्टनर के साथ घूमने या पिकनिक मनाने के लिए जा सकते हैं। टेमघर बांध, लवासा की हरी-भरी जगहों में से एक है। यहां गर्म चाय के साथ भुट्टे का भी लुत्फ उठा सकते हैं। बांध की यात्रा सुबह 10 बजे से लेकर शाम 6 बजे के बीच कर सकते हैं।