जेट फ्यूल की बढ़ती कीमतों के चलते आज से घरेलू हवाई यात्रा महंगी, किराये में 12.5 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी

 13 Aug 2021 01:53 PM

नई दिल्ली। देश में शुक्रवार से घरेलू हवाई यात्रा महंगी होने जा रही है। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने गुरुवार को हवाई किराये में 12.5 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी करने का फैसला लिया। हवाई किराये की मिनिमम और मैक्सिमम दोनों ही वैल्यू पर ये बढ़ोत्तरी की गई है। इसके साथ ही केंद्र सरकार ने देश में सभी एयरलाइंस को घरेलू उड़ानों की संख्या में 7.5 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी करने की इजाजत दे दी है। साथ ही एयरलाइंस कंपनियों को यात्री क्षमता बढ़ाने की भी अनुमति दे दी गई है। अब इन घरेलू उड़ानों में यात्रियों की संख्या कुल सीटों के 65 प्रतिशत से बढ़ाकर 72.5 प्रतिशत कर दी गई है।

 

देश में कोरोना की दूसरी लहर के कहर के बाद लगे लॉकडाउन के चलते हवाई यात्रियों की संख्या में गिरावट दर्ज की गई थी। इसका सीधा असर एयरलाइंस कंपनियों की इनकम पर भी हुआ था। किराये में बढ़ोत्तरी और यात्री क्षमता बढ़ने से अब एयरलाइंस कंपनियों को राहत मिलेगी।

 

केंद्र सरकार ने घरेलू उड़ानों पर 21 जून को भी 15 प्रतिशत बढ़ोत्तरी की थी। कोरोना के मामलों में कमी को देखते हुए केंद्र सरकार ने 5 जुलाई से घरेलू उड़ानों में यात्री क्षमता बढ़ाकर 65 प्रतिशत तक कर दी थी। अब इसे एक बार फिर 7.5 फीसदी बढ़ाकर 72.5 प्रतिशत कर दिया गया है।

 

किराये में बढ़ोत्तरी का कारण

जेट फ़्यूल की कीमतें लगातार बढ़ती जा रही हैं। ऐसे में इस साल चौथी बार ऐसा हुआ है जब घरेलू उड़ानों का किराया बढ़ा। किराये में 12.5 फीसदी की बढ़ोत्तरी के साथ ही अब हवाई किराये में बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा। दिल्ली से मुंबई जाने के लिए पहले जहां मिनिमम 4,700 रुपये का किराया चुकाना पड़ता था वहीं अब इस बढ़ोत्तरी के बाद इसके लिए 5,287 रुपये का किराया देना होगा। मैक्सिमम किराए की बात करें तो पहले जहां दिल्ली से मुंबई के लिए 13,000 रुपये किराया था वहीं अब ये बढ़कर 14,625 रुपये हो जाएगा।