वीशू, तनु, निकिता, माही, रोहित और भरत ने लगाया गोल्डन पंच

 30 Aug 2021 02:48 AM

दुबई भारतीय बॉक्सरों ने दुबई में खेली जा रही एशियाई जूनियर बॉक्सिंग चैंपियनशिप में रविवार को शानदार प्रदर्शन करते हुए 8 स्वर्ण पदक अपनी झोली में डाले। जबकि गौरव सैनी ने रजत पदक जीता। भारत के लड़कों ने जूनियर वर्ग में अपना अभियान 2 स्वर्ण, 1 रजत और 3 कांस्य पदक के साथ समाप्त किया। भारत के लिए दिन की शुरुआत में रोहित चमोली (48 किग्रा) ने मंगोलिया के ओटगोनबयार तुवशिंजया को 3-2 से हराकर देश को पहला स्वर्ण पदक दिलाया। करीबी जीत के स्वर्ण पदक हासिल करने में सफल रहे। इसके बाद अगला स्वर्ण भरत जून (+81 किग्रा) ने कजाकिस्तान के येर्डोस शारिपबेक को एकतरफा अंदाज में 5-0 से हराते हुए जीता। वहीं गौरव सैनी को 70 किग्रा भार वर्ग के फाइनल में उज्बेक के बोल्टेव शवकटजोन (यूजेडबी) से 0-5 से हारकर रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

बेटियों ने 6 गोल्ड और 3 सिल्वर मेडल जीते

वूमन्स कैटेगरी में भारत की बेटियों ने 6 गोल्ड और 3 सिल्वर मेडल जीते। विशु राठी (48 किग्रा), तनु (52 किग्रा) ने गोल्ड जीते। विशु ने उज्बेकिस्तान के बॉक्सर को 5-0 से हराया, जबकि तनु ने कजाकिस्तान के खिलाड़ी को 3-2 से हराया। निकिता चांद (60 किग्रा) ने कजाकिस्तान के बॉक्सर को 5-0 से हराकर गोल्ड जीता। माही राघव (63 किग्रा) ने कजाकिस्तान के मुक्केबाज को 3-2 से हराकर गोल्ड मेडल पर कब्जा किया। प्रांजल यादव (75 किग्रा) ने कजाकिस्तान के बॉक्सर को 4-1 से हराकर सोने का तमगा हासिल किया। कीर्ति (+81 किग्रा) ने कजाकिस्तान के मुक्केबाज को 4-1 से हराकर स्वर्ण पदक जीता। वहीं, मुस्कान, रुद्रिका (70 किग्रा) , आंचल सैनी ने 57 किग्रा में और संजना ने 81 किग्रा में रजत पदक जीते।

इस टूर्नामेंट में अब तक भारत ने 12 पदक जीते

बता दें कि स्पर्धा में पहले ही 6 कांस्य पदक जीत चुका है, जिसमें देविका घोरपड़े (50 किग्रा), आरजू (54 किग्रा) और सुप्रिया रावत (66 किग्रा) ने लड़कियों में जबकि आशीष (54 किग्रा), अंशुल (57 किग्रा) और अंकुश (66 किग्रा) ने लड़कों के वर्ग में पदक जीते।