भारतीय खिलाड़ियों ने दिया खेल दिवस का गिफ्ट, जीते 3 मेडल

 30 Aug 2021 03:00 AM

टोक्यो भारत के लिए पैरालिंपिक खेलों में रविवार का दिन पदकों की सौगात लेकर आया और टेबल टेनिस खिलाड़ी भाविनाबेन पटेल और ऊंची कूद के एथलीट निषाद कुमार ने जहां रजत पदक जीते, वहीं विनोद कुमार चक्का फेंक में कांस्य पदक हासिल करने में सफल रहे। भाविनाबेन टेबल टेनिस क्लास 4 स्पर्धा के महिला एकल फाइनल में दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी चीन की झाउ यिंग के खिलाफ 19 मिनट में 7-11, 5-11, 6-11 से शिकस्त का सामना करना पड़ा, लेकिन वह एतिहासिक रजत पदक के साथ पैरालिंपिक खेलों में पदक जीतने वाली दूसरी भारतीय महिला खिलाड़ी बनने में सफल रहीं। वहीं टेबल टेनिस में देश को पदक दिलाने वाली पहली महिला खिलाड़ी बनीं। भारतीय पैरालिंपिक समिति (पीसीआई) की मौजूदा अध्यक्ष दीपा मलिक रियो में गोला फेंक में रजत पदक के साथ पैरालिंपिक खेलों में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनीं थी। निषाद कुमार ने पुरुषों की ऊंची कूद टी-47 स्पर्धा में एशियाई रिकॉर्ड के साथ रजत पदक जीता। विनोद कुमार ने भी पुरुषों के चक्का फेंक की एफ-52 स्पर्धा में एशियाई रिकॉर्ड बनाया और कांस्य पदक अपने नाम किया। भारत 2 रजत और 1 कांस्य पदक के साथ पदक तालिका में 45वें स्थान पर है।

सिल्वर गर्ल को 3 करोड़ रुपए देगी गुजरात सरकार

अहमदाबाद। गुजरात सरकार ने टोक्यो पैरालिंपिक खेलों में रविवार को एतिहासिक रजत पदक जीतने वाली टेबल टेनिस खिलाड़ी भाविना पटेल को 3 करोड़ रुपए का इनाम देने की घोषणा की। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने मेहसाणा जिले की बेटी भाविना पटेल को दिव्यांग खेल प्रतिभा प्रोत्साहन पुरस्कार योजना के तहत भाविना को प्रोत्साहन के रूप में 3 करोड़ रुपए के पुरस्कार की घोषणा की है। वहीं भारतीय टेबल टेनिस महासंघ (टीटीएफआई) ने रविवार को भाविनाबेन पटेल के लिए 31 लाख रुपए के नकद पुरस्कार की घोषणा की। हरियाणा के उप मुख्यमंत्री और टीटीएफआई अध्यक्ष दुष्यंत चौटाला ने सोशल मीडिया पोस्ट पर इस नकद पुरस्कार की घोषणा की।

भाविना के गांव में गरबा खेलकर मनाया जश्न

मेहसाणा। भाविनाबेन पटेल के रजत पदक जीतने के बाद गुजरात के मेहसाणा जिले के उनके पैत्रिक गांव सुंधिया में परिवार के सदस्यों और मित्रों ने पारंपरिक गरबा नृत्य, पटाखे जलाकर और एक दूसरे पर गुलाल लगाकर जश्न मनाया। भाविना के पैत्रिक गांव में तोक्यो से उनके मैच का सीधा प्रसारण देखने के लिए बड़ी स्क्रीन लगाई गई थी। सुबह से ही लोग मैच देखने के लिए एकत्रित हो गए थे। उनके एक रिश्तेदार ने कहा कि जैसा कि आप देख सकते हैं भाविना के रजत पदक जीतने के बाद से हम सुबह से ही गरबा खेल रहे हैं। हम उसके भव्य स्वागत की पूरी तैयारी कर रहे हैं। भाविनाबेन भले ही फाइनल के हार गर्इं लेकिन इसके बावजूद लोगों ने जमकर जश्न मनाया। मुकाबला खत्म होने के साथ ही लोगों ने नाचना, पटाखे जलाना और एक दूसरे पर गुलाल फेंकना शुरू कर दिया।

किराने की छोटी सी दुकान चलाते हैं भाविना के पिता

हसमुख गांव में किराने की छोटी दुकान चलाते हैं। भाविनाबेन के पिता हसमुख पटेल ने उसकी जीत के बाद संवाददाताओं से कहा कि वह भले ही दिव्यांग हो लेकिन हमने उसे कभी इस तरह नहीं देखा। हमारे लिए वह दिव्य है। हमें बेहद खुशी है कि उसने देश के लिए रजत पदक जीता। उन्होंने कहा कि भाविनाबेन की उपलब्धि पर उन्हें बेहद खुशी है और वे उसकी जीत पर गौरवांवित महसूस कर रहे हैं।

निषाद ने एशियन रिकॉर्ड के साथ जीता सिल्वर मेडल

मेंस टी-47 हाई जंप में निषाद कुमार ने 2.06 मीटर की जंप के साथ एक और सिल्वर भारत के नाम कर दिया। निषाद कुमार ने एशियन रिकॉर्ड बनाया। इस इवेंट में भारत के एक अन्य एथलीट राम पाल पांचवें स्थान पर रहे। पैरालिंपिक स्पोर्ट्स की ळ47 कैटेगरी में ऐसे एथलीट हिस्सा लेते हैं जिनका कोई एक हाथ कोहनी से नीचे कटा हुआ होता है। हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले के रहने वाले निषाद कुमार बेंगलुरु के कोचिंग कैंप में महीनों तक कड़ी मेहनत की है। मुकाबले से पहले उनके गांव में उनके लिए लगातार दुआएं मांगी जा रही थी। इस मेडल के साथ ही गांव में खुशियों का माहौल है।

पैरालिंपिक पदक तालिका
क्रम    देश           स्वर्ण        रजत       कांस्य        कुल पदक
1       चीन            45          29          29           103
2       ब्रिटेन          23          19          18           60
3      अमेरिका      15          16           09           40
4      आरओसी     15          09           28           52
5      यूक्रेन           10          22          11            43
6      ब्राजील         10          05          15             30
7     अजरबैजान    09          00          03            12
8     ऑस्ट्रेलिया     08          15          13             36
9     इटली           08           09          09             26
10   नीदरलैंड       07          07           05            19
45   भारत           00           02           01            03