आदिवासी को घसीटने का मामला: आरोपियों के घर पर चला बुलडोजर, कांग्रेस की टीम करेगी जांच, मायावती बोलीं- कार्रवाई हो

 29 Aug 2021 05:44 PM

नीमच। जिले के सिंगोली इलाके में आदिवासी युवक को वाहन से बांधकर सड़क पर घसीटने का मामला गरमा गया है। पुलिस ने आरोपियों के घर को जमींदोज करना शुरू कर दिया है। घटना में शामिल महेंद्र गुर्जर के मकान को ध्वस्त किया गया है। इसके साथ आरोपी अमरचंद के मकान को भी तोड़ा गया है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कांग्रेस के पांच विधायकों की टीम जांच के लिए बनाई है। वहीं, बसपा प्रमुख मायावती ने दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है। इस घटना में आदिवासी युवक की मौत हो गई थी।

दरअसल, नीमच में आदिवासी युवक की बर्बरतापूर्वक पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है। इस घटना के सामने आने के बाद से शिवराज सरकार निशाने पर है। आरोपियों के खिलाफ अब पुलिस ने कार्रवाई तेज की है। घटना में शामिल आठ आरोपियों को चिह्नित किया गया है। इनमें पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। अब उनके रसूख को तोड़ा जा रहा है। प्रशासन ने सिंगोली के पास स्थित गांव में महेंद्र गुर्जर के घर को तोड़ दिया है। दूसरे आरोपियों के घर भी तोड़े जाएंगे।

 

कांग्रेस ने जांच के लिए टीम गठित की
पूर्व सीएम कमलनाथ ने मामले की जांच को लेकर मध्य प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया के नेतृत्व में एक जांच कमेटी गठित की है। इसमें भूरिया के अलावा, कांग्रेस विधायक हर्ष विजय गहलोत, पाची लाल मीणा, दिलीप गुर्जर और मनोज चावला मौके पर जाकर जांच करेंगे। वहां पीड़ित परिवार से मुलाकात करेंगे। इसके बाद अपनी रिपोर्ट प्रदेश कांग्रेस कमेटी को सौंपेंगे।

आदिवासी युवक को चोरी के शक में पिकअप वाहन से बांधकर घसीटा, तड़प-तड़प कर मौत हुई, देखें वीडियो

मायावती ने कहा- घटना दिलदहला देने वाली है
बसपा प्रमुख मायावती ने भी नीमच की घटना पर कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा है कि आदिवासी समाज के कन्हैयालाल भील की मामूली बात पर पिटाई की गई और फिर उसे गाड़ी में बांधकर घसीटने से मौत हो गई है। यह मॉब लिंचिंग की दिल दहलाने वाली घटना है। साथ ही अति निंदनीय है। सरकार दोषियों को सख्त सजा दे, यह बसपा की मांग है।