खंडवा में शिवराज ने किशोर कुमार का गाना गुनगुनाया, ऐलान किया- यहां का रविंद्र भवन किशोर दा के नाम से होगा

 28 Aug 2021 05:12 PM

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शनिवार को खंडवा पहुंचे। उन्होंने यहां से प्रदेश के 52 जिलों के 363 निकायों में प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत 1 लाख 29 हजार 292 हितग्राहियों के खातों में 627.31 करोड़ की राशि ट्रांसफर की। इस दौरान सीएम ने 50 हजार 253 आवासों का भूमिपूजन भी किया। शिवराज ने संगीतकार किशोर कुमार का जिक्र किया और कहा- कोरोनाकाल में जब भी परेशान हो जाता हूं तो किशोर कुमार के गीत गुनगुना लेता हूं। उन्होंने कहा कि यहां के रविंद्र भवन को किशोर कुमार ऑडिटोरियम के नाम से जाना जाएगा। मुख्यमंत्री ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और साहित्यकार माखनलाल चतुर्वेदी की कविता मुझे तोड़ लेना वनमाली भी पढ़ी। साथ ही किशोर कुमार का गीत भी मंच से गाया।

शिवराज का कहना था कि ये टंट्या मामा की भी भूमि है और हमने यहां स्मारक बनाया। #AzadiKaAmritMahotsav का एक भव्य कार्यक्रम टंट्या मामा की जन्मभूमि पर मनाया जाएगा। उनके नाम पर स्मारक को भव्य स्वरूप प्रदान किया जाएगा। सीएम ने यह भी कहा कि ये किशोर दा की भी भूमि है। मैं सचमुच किशोर कुमार जी के गीत से प्रेरणा लेता हूं। 

रुक जाना नहीं तू कहीं हार के 
कांटों पे चलके मिलेंगे साए बहार के 
रुक जाना नहीं तू कहीं हार के 
कांटों पे चलके मिलेंगे साए बहार के 
ओ राही.. ओ राही..

कमलनाथ बोले- जनता जानना चाहती है मध्य प्रदेश के आर्थिक हालात, इसलिए शिवराज सरकार जारी करे श्वेत पत्र

शिवराज का  संबोधन...

  • यहां ओंकारेश्वर हैं, यहां ममलेश्वर हैं, यहां नर्मदा मैया हैं, यहां दादा धूनि वाले हैं, यहां संत सिंगाजी महाराज हैं, यहां बुखारदास जी, संत सेवालाल जी जैसे अनेक संत हैं। इस भूमि को मैं बारंबार प्रणाम करता हूं।
  • आज इस खंडवा की पवित्र भूमि को मैं शीष झुकाकर नमन करता हूं। ये अद्भुत भूमि है। यह ऋषियों की और महर्षियों की भूमि है। आदिगुरु शंकराचार्य जी महाराज शिक्षा प्राप्त करने ओंकारेश्वर में अपने गुरु गोविंद जी के पास आए थे।
  • अवैध कॉलोनियों को वैध करने का निर्णय लिया है। अवैध कॉलोनी बनाकर बिल्डर बेचकर चले गए। जिसने भी अपनी पूरी जिंदगी की कमाई उसमें लगा दी, उसकी क्या गलती है। धोखा करने वाले ऐसे बिल्डरों के साथ सरकार सख्ती से निपटेगी।
  • सभी शहरों में दीनदयाल रसोई योजना शुरू होगी ताकि गरीबों को सस्ता भोजन मिल जाए। गरीबों के लिए बुनियादी सुविधाओं के साथ पढ़ाई, स्वास्थ्य सुविधाओं और रोज़गार का इंतजाम कर रहे हैं। 
  • 2024 तक हमारा लक्ष्य है कि हर गरीब को पक्की छत मिल जाए। जिनके पास जमीन का टुकड़ा है, हम उनको पट्टा देकर उस जमीन का मालिक बनाएंगे। 
  • आज पीएम आवास योजना (शहरी) के सभी 1.29 लाख हितग्राही गृहप्रवेश कर रहे हैं या उनके घरों का भूमिपूजन हो रहा है। हमारा लक्ष्य है कि हर गरीब को अपनी ज़मीन और रहने के लिए मकान दिया जाए। 
  • एक रुपए किलो गेहूं, चावल, नमक केवल कर्मकांड नहीं है। यह गरीबों के जीवन को सुगम बनाने का योजबनाबद्ध प्रयास है। एक दिन की मजदूरी में गरीब के घर एक महीने का राशन आ जाए तो बाकी दिनों की कमाई से अन्य जरूरतें पूरी हो जाएंगी।

वायरस कब स्वरूप बदल ले, कोई ठिकाना नहीं, इसलिए रहें सावधान : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने इनसे वर्चुअल संवाद किया

  • मुख्यमंत्री चौहान ने प्रधानमंत्री आवास योजना की हितग्राही निवाड़ी, पृथ्वीपुर निवासी सरस्वती विश्वकर्मा से संवाद किया। उन्होंने बताया कि दूसरों का पक्का मकान देखकर लगता था कि उनका भी पक्का मकान हो। आज वह सपना पूरा हो रहा है। 
  • सीएम ने हितग्राही जोबट, अलीराजपुर निवासी कैलाश प्रजापति से संवाद किया। प्रजापति ने बताया कि वह मिट्टी से मटके बनाने का कार्य करते हैं। खाते में आई राशि से वह पक्का मकान बनाएंगे।
  • सागर के खुरई के रहने वाले मनीष रजक ने बताया कि वे मोबाइल सुधारने का काम करते हैं। भोपाल जिले के बैरसिया में रहने वाले राजेश यादव का कहना था कि पहले कच्चा मकान था। थोड़ा बहुत इकट्ठा करके एक प्लॉट खरीद लिया था। योजना का पता चला तो नगर पालिका गया। आवेदन दिया तो पक्का मकान बनाने के लिए राशि दे दी गई। उज्जैन के पप्पू गोयल ने बताया कि वे फ्लेक्स प्रिंटिंग का काम करते हैं। पप्पू का बेटा डॉक्टर बनना चाहता है। इस पर सीएम ने कहा- इसके लिए पूरा पैसा संबल योजना के तहत मिल जाएगा।