काबुल में एक और आतंकी हमले की आशंका, बाइडेन बोले- बदला लेंगे

 28 Aug 2021 02:38 AM

काबुल। अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद देश से भाग रहे हजारों लोगों को निशाना बनाकर किए गए फिदायीन धमाकों में मृतकों की संख्या 170 हो गई है। इनमें 13 अमेरिकी सैनिकों के अलावा ब्रिटेन के 2 नागरिक और एक बच्चा भी शामिल है। हमले की जिम्मेदारी ‘आईएसआईएस खुरासान’ मॉड्यूल ने ली है। 4 बम धमाकों में13 सैनिकों की मौत पर राष्ट्रपति जो बाइडेन के तेवर तल्ख दिखे। उन्होंने कहा- हम अमेरिकी सैनिकों की मौत का बदला लेंगे और आतंकियों को मार गिराएंगे। तुम (आतंकी) इसकी कीमत चुकाओगे। बाइडेन ने कहा कि लोगों को निकालने का हमारा अभियान जारी रहेगा। उधर, निकासी अभियान की निगरानी कर रही अमेरिकी केंद्रीय कमान के प्रमुख जनरल फ्रैंक मैकेंजी ने कहा कि 31 अगस्त से पहले एक और और हमला होने की आशंका है तथा अमेरिकी सैनिक इन संभावित हमलों को रोकने के लिए तालिबान के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। काबुल एयरपोर्ट पर सुरक्षा के इंतजाम किए जा रहे हैं।

आंखों में दर्द और दहशत के बीच जान बचाने की जद्दोजहद

ब्रिटेन, इटली ने बंद किया अभियान

ब्रिटेन :सशस्त्र बलों ने काबुल हवाई अड्डे से निकासी के अंतिम चरण में प्रवेश कर लिया है। ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने कहा, अब ध्यान ब्रिटिश नागरिकों व अन्य लोगों को निकालने पर है, जिनके आवेदन पर प्रक्रिया पूरी हो चुकी है।

इटली :विदेश मंत्री ने निकासी अभियान खत्म होने की पुष्टि की। काबुल से इटली की आखिरी उड़ान रोम पहुंची।

भारत : संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से कहा है कि ये हमले आतंकवाद और आतंकवादियों को पनाहगाह मुहैया कराने वालों के खिलाफ दुनियाभर के देशों को एकजुट होकर खड़े होने की आवश्यकता है।

हमले के बाद फिर शुरू हु निकासी उड़ानें, 5000 लोग एयरपोर्ट पर डटे

आतंकी हमले के बाद भी शुक्रवार को अफगानिस्तान छोड़ने के लिए करीब 5,000 लोग काबुल एयरपोर्ट पर डटे रहे। यहां से उड़ानें एक बार फिर शुरू कर दी गई हैं। दरअसल, यहां लोगों के पास देश छोड़ने के अलावा दूसरा कोई विकल्प ही नहीं है।

ट्रंप की पार्टी ने कहा- बाइडेन के हाथ खून से रंगे हुए हैं

ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी के सीनेटर डेन क्रेनशॉ ने राष्ट्रपति बाइडेन पर निशाना साधा। कहा-आपके हाथ खून से रंगे हुए हैं। हम अब भी जंग के मैदान में हैं। इसे युद्ध का अंत समझने की गलती मत कीजिए।

अमेरिका ने तालिबान को सौंपी थी अपनों की सूची

अमेरिकी अफसरों ने तालिबान को अपने नागरिकों व अफगान सहयोगियों के नामों की एक लिस्ट एयरपोर्ट पर प्रवेश के लिए सौंपी थी। एक रक्षा अधिकारी ने कहा, इन सभी को हत्या सूची में डाल दिया गया।