कोविड से हटकर अब पॉजिटिविटी दिखाती पेंटिंग्स बना रहे आर्टिस्ट्स

 28 Aug 2021 01:16 AM

कोविड के दौरान चिंताओं का असर पेंटिंग्स में भी नजर आ रहा था, लेकिन अब हालात सामान्य हो रहे हैं तो चित्र भी बदल रहे हैं। कलाकारों का मानना है कि वे भी खुद को पहले से ज्यादा विनम्र, एकदूसरे के प्रति कृतज्ञ महसूस करने के साथ ही जीवन के छोटे-छोटे पलों में खुशी हासिल कर रहे हैं, जिसका असर अब पेंटिंग्स में नजर आ रहा है। कोई जिंदगी से भरी आंखों में रंग तब तक भरता रहेगा, जब तक कि केसेस जीरो नहीं हो जाते तो कोई हिमालयन रेंज को चित्रों में उतार रहा है क्योंकि यह प्रसन्नता और खुशहाली को दिखाते हैं।

केसेस से जोड़कर आंख में भरे रंग

मैंने जब देश में लॉकडाउन हुआ था उस समय चारकोल से आंख तैयार की थी। उस समय तब सब कुछ बंद था, तब उसमें कलर नहीं किए। अब जैसे-जैसे परिस्थिति सुधर रही हैं तो उसमें कलरिंग शुरू की। इस पेंटिंग में कुछ हिस्सों में कलर किए हैं, वहीं कुछ जगह ब्लैक एंड वाइट ही रहने दिया है। जैसे ही केस कम होते जाएंगे और जब जीरो केस हो जाएंगे उस दिन आंख में रंग पूरी तरह से भर दिए जाएंगे। -सुरभि नेमा, आर्टिस्ट

हिमालयन रेंज व फील्ड को किया चित्रित

मैं ही नहीं कई कलाकार अब खुद को ज्यादा बेहतर इंसान के रूप में देख रहे हैं। हम पहले से ज्यादा संवेदनाओं से भरे व करुणामय हो गए हैं। एक बार फिर कम होती हुई मानवता जागी है। यह पेंटिंग्स में भी नजर आ रहा है। हाल में मैंने हिमालयन रेंज, फील्ड, समृद्धि व फलती- फूलती जगह को चित्रित किया है। -प्रीति निगम, वरिष्ठ चित्रकार

जिंदगी में लौट रहें रंगों को उकेरा

मैंने ऑइल पेंटिंग में एक महिला को रंगों के बीच खुशियां मनाते हुए पेंटिंग बनाई है। ऐसा इसलिए भी कि बहुत समय से हम सभी कोरोना की वजह से बेरंग महसूस कर रहे थे। खुशी को जाहिर करते हुए पेंटिंग बनाई जिसमें एक महिला आजादी महसूस कर रही है। -ऋषभ निगम, आर्टिस्ट