ICMR की स्टडी में खुलासा, डेल्टा प्लस वेरिएंट के खिलाफ असरदार है कोवैक्सीन

 02 Aug 2021 03:30 PM

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के खिलाफ जंग के बीच एक अच्छी खबर सामने आई है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की स्टडी में सामने आया है कि कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट के खिलाफ कोवैक्सीन असरदार है।

भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन ‘कोवैक्‍सीन’ को इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी के सहयोग से विकसित किया गया है। भारत में अभी तक कोवैक्‍सीन, कोविशील्‍ड और स्‍पूतनिक-वी वैक्‍सीन को ही मंजूरी मिली है। ये सभी वैक्‍सीन कोरोना वायरस के खिलाफ काफी प्रभावी बताई जाती हैं। ICMR ने यह दावा किया है कि कोवैक्‍सीन डेल्‍टा प्‍लस वेरिएंट के खिलाफ प्रभावी है। लेकिन कितनी प्रभावी है, इसका विवरण नहीं दिया है।

 

डेल्‍ट प्‍लस वेरिएंट काफी तेजी से फैलता है। यह डेल्‍टा वेरिएंट के म्यूटेशन का परिणाम है, जिसके लक्षण लगभग डेल्‍टा वेरिएंट के समान ही होते हैं। कोवैक्‍सीन की प्रभावशीलता कोरोना वायरस के खिलाफ 77.8 फीसद है। विशेषज्ञों का मानना है कि भारत में कोरोना वायरस संक्रमण की तीसरी लहर के लिए डेल्‍टा प्‍लस वेरिएंट जिम्‍मेदार हो सकता है। भारत में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान डेल्‍टा वेरिएंट के काफी मामले सामने आए थे।

 

यह खबर भी पढ़ें...

कोरोना डेली अपडेट: रविवार को 40 हजार नए केस मिले, 36 हजार लोग ठीक हुए; 422 लोगों की मौत हुई