केंद्र ने राज्यों से पूछा ऑक्सीजन की कमी के कारण कितनी मौतें हुईं , 13 अगस्त तक मांगे आंकड़े

 27 Jul 2021 07:47 PM

नई दिल्ली। कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी से मौतों को राज्यों द्वारा नकारे जाने के बाद अब केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से  ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों के आंकड़े मांगे हैं।

जानकारी के अनुसार आंकड़ों को इकट्ठा करके 13 अगस्त को मॉनसून सत्र समाप्त होने से पहले संसद में पेश किया जाएगा।

सरकार की यह कवायद उस समय शुरू हुई है जब संसद में उसके उत्तर के बाद पूरे देश में बहस शुरू हो गई थी। सरकार ने संसद में कहा था कि देश में ऑक्सीज की कमी से कोई मौत नहीं हुई है। इसके साथ ही सरकार ने यह भी कहा था कि स्वास्थ्य राज्यों का विषय है इसलिए यह जानकारी राज्यों से भेजी गई है।

 

कोरोना की दूसरी लहर में अस्पतालों के बिस्तर, दवाओं और मेडिकल ऑक्सीजन की कमी थी। ऑक्सीजन की कमी पर कई हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया था। देश भर के स्टील प्लांट्स और अन्य उद्योगों से ऑक्सीजन को अस्पतालों में भेजा गया था। भारत को आपात स्थिति के आधार पर कई देशों से ऑक्सीजन का आयात करना पड़ा था। बड़ी संख्या में लोगों की ऑक्सीजन की कमी से मौत हुई थी।