दिल्ली में टमाटर की भारी मात्रा में आवक होने से दाम घटकर 4 रुपए किलो रह गए

 31 Aug 2021 12:43 AM

नई दिल्ली उत्पादक राज्यों में भारी मात्रा में आवक होने से टमाटर के थोक दाम गिरकर चार रुपए प्रति किलो रह गए। सरकारी आंकड़ों में यह सामने आया है। सरकार की निगरानी वाले 31 में से 23 उत्पादक केंद्रों में टमाटर के थोक मूल्य एक साल पहले की इसी अवधि के मुकाबले 50 प्रतिशत कम या तीन साल के मौसम के औसत भाव से नीचे आ गए हैं। इस समय फसल वर्ष 2021-22 (जुलाई-जून) की खरीफ के शुरुआती मौसम के टमाटर की फसल बाजार में आ रही है। आंकड़ों के मुताबिक मध्य प्रदेश के देवास में टमाटर का थोक भाव इस साल 28 अगस्त को गिरकर आठ रुपए प्रति किलोग्राम हो गया, जो एक साल पहले इसी अवधि में 11 रुपए प्रति किलोग्राम था। मध्यप्रदेश देश का सबसे बड़ा टमाटर उत्पादक राज्य है। इसी तरह, देश के छठे सबसे बड़े टमाटर उत्पादक राज्य महाराष्टÑ के जलगांव में टमाटर का थोक मूल्य 28 अगस्त को 80 प्रतिशत गिरकर चार रुपए प्रति किलोग्राम रह गया, जो एक साल पहले की इसी अवधि में 21 रुपए प्रति किलोग्राम पर था। नेशनल होर्टिकल्चरल रिसर्च एंड डेवलपमेंट फाउंडेशन (एनएचआरडीएफ) के कार्यवाहक निदेशक पी के गुप्ता ने कहा, आपूर्ति की अधिकता के कारण प्रमुख उत्पादक राज्यों में कीमतें गिर रही हैं। अनुकूल मौसम के कारण टमाटर की फसल अच्छी रही है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, देश में टमाटर के चौथे सबसे बड़े उत्पादक राज्य कर्नाटक के कोलार में टमाटर का थोक मूल्य 28 अगस्त को घटकर 5.30 रुपए प्रति किलोग्राम रह गया, जो एक साल पहले की अवधि में 18.70 रुपए प्रति किलोग्राम था।