राज्य में आएगा 10,000 करोड़ रु. का निवेश, रोजगार के दो लाख अवसर पैदा होंगे : सोरेन

 29 Aug 2021 12:59 AM

नई दिल्ली। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने उद्योगपतियों से किये वादों को पूरा करने की प्रतिबद्धता जताते हुए शनिवार को कहा कि राज्य में 10,000 करोड़ रुपए का निवेश आएगा जिससे रोजगार के दो लाख प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष अवसर पैदा होंगे। झारखंड निवेशक सम्मेलन के दौरान सोरेन ने यहां झारखंड औद्योगिक और निवेश संवर्धन नीति (जेआईआईपीपी) 2021 का शुभारंभ करते हुए निवेशकों का रियायतों और सुविधाओं के साथ स्वागत किया और उनसे उनकी प्रतिबद्धताओं का पूरा करने का आग्रह किया। सोरेन ने टाटा, सेल, वेदांता और डालमिया जैसे उद्योग समूहों को संबोधित करते हुए कहा, राज्य सरकार निवेशकों के सहयोग से आगे बढ़ना चाहती है। प्रकृति ने झारखंड को जो अनंत संसाधन दिए हैं, हम उनका लाभ उठाकर विकास के पथ पर चलने की कोशिश कर रहे हैं। हम अपने वादों को पूरा करेंगे और ऐसी ही हम उद्योगपतियों से उम्मीद रखते हैं। उन्होंने कहा कि इस सम्मेलन के माध्यम से राज्य के लिए 10,000 करोड़ रुपए के निवेश की उम्मीद है, जिससे लगभग दो लाख प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार पैदा होंगे। झारखंड सरकार ने सभी संभावित निवेशकों से वादा किया है कि यदि वे अनुसूचित जनजाति/अनुसूचित जनजाति के 35 प्रतिशत कर्मचारियों को अपने कार्यबल में शामिल करने की प्रतिबद्धता जताते हैं तो उन्हें नई जेआईआईपीपी-2021 के मौजूदा प्रावधानों के अलावा अतिरिक्त प्रोत्साहन दिए जाएंगे। दो दिन के सम्मेलन के दौरान टाटा स्टील ने अगले तीन वर्षों में राज्य में 3,000 करोड़ रुपए का निवेश करने की प्रतिबद्धता जताई है। वही डालमिया समूह ने अपने सीमेंट संयंत्र का विस्तार करने, सौर ऊर्जा संयंत्र और ठोस अपशिष्ट प्रबंधन संयंत्र स्थापित करने के लिए समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं।