मानव तस्करी: बस में सीट के नीचे छिपाकर यूपी ले जा रहे थे 19 बच्चे, अंतरराज्यीय गिरोह के तीन सदस्य पकड़े

 28 Aug 2021 05:35 PM

शहडोल। जिला पुलिस ने मानव तस्करी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह को पकड़ा है। गिरोह के तीन सदस्य पकड़े गए हैं। उनके कब्जे से 19 बच्चे बरामद हुए हैं। इन बच्चों को बस की सीट के नीचे छिपाकर यूपी ले जाया जा रहा था। वहां गन्ना उत्पादकों को बेचने की तैयारी थी। जहां उनसे खेतों में काम करवाया जाता था। गिरोह के बाकी सदस्यों की तलाश की जा रही है।

पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि उत्तर प्रदेश के मेरठ और हापुड़ से मानव तस्करी करने वाला एक गिरोह जिले में आया है। गिरोह के सदस्य दूरस्थ गांवों में जाकर गरीब नाबालिग बच्चों को अपने एजेंट के जरिए इकट्ठा कर रहे थे। पुलिस ने आरोपियों के मूवमेंट पर नजर रखना शुरू कर दिया। उनकी लगातार ट्रैकिंग की जा रही थी। जब पुलिस को यह जानकारी मिली कि गिरोह अब बच्चों को लेकर रवाना हो रहा है तो घेराबंदी कर पकड़ लिया।

भोपाल की लड़की को 1.70 लाख में बेचा, 5 गिरफ्तार

नाबालिगों में 18 लड़के और एक लड़की
पुलिस ने जैसीनगर थाना क्षेत्र में यूपी की बस (यूपी 15 CT 4609) को घेराबंदी करके रोका तो उसमें 19 नाबालिग बच्चे मिले। बच्चों को सीटों के नीचे छुपा कर बैठाया गया था। इसमें 18 लड़के और एक लड़की शामिल थी। सीटों के ऊपर दूसरे मजदूर बैठे हुए थे, जिससे पुलिस को यह लगे कि बस में मजदूर हैं।

बच्चों के बारे में परिजन को नहीं थी जानकारी
पुलिस ने नाबालिग बच्चों से पूछताछ की तो पता चला कि उन्हें परिजनों की जानकारी के बिना षड्यंत्रपूर्वक बंधुआ मजदूरी कराने के लिए मेरठ ले जाया जा रहा था। पुलिस ने बस को जब्त कर ड्राइवर सोनू शर्मा, सूरज चंद और एजेंट शकील अहमद को गिरफ्तार कर लिया है। सभी आरोपी उत्तर प्रदेश के हैं। सभी के खिलाफ मानव तस्करी और पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है।

लेन-देन के विवाद में पहले गला घोंटा, फिर शव को बोरी में भरकर खाई में फेंका, महिला समेत चारों आरोपी गिरफ्तार