महिला ने 97 डॉगी को पनाह दी, नाश्ता-खाना भी दिया

महिला ने 97 डॉगी को पनाह दी, नाश्ता-खाना भी दिया

नासाऊ। कैरेबियन द्वीप समूह के देश बाहमास की राजधानी नासाऊ में समुद्री तूफान डोरियन ने पूरे द्वीप का जन-जीवन तहस-नहस कर दिया है। ऐसे माहौल में चेला फिलिप्स नामक महिला के दयालु स्वभाव की सोशल मीडिया पर खूब चर्चा हो रही है। उन्होंने द्वीप के 97 डॉगी की जान बचाने के लिए उन्हें अपने घर में पनाह दे रखी है। वॉशिंगटन पोस्ट में चेला फिलिप के काम की खूब सराहना की गई है। चेला के अनुसार मंगलवार 3 सितंबर तक उन्होंने एक-एक कर 97 डॉगी रेस्क्यू कर अपने घर में रखे। यहां तक कि उनके बैडरूम में भी कुछ डॉगी पनाह लिए हुए हैं। चेला इन्हें नाश्ता व भोजन भी दे रही हैं। यदि वे इन डॉगी की सुरक्षा नहीं करतीं तो इनमें से कई तूफान की भेंट चढ़ चुके होते, क्योंकि पूरे द्वीप पर बाढ़ आई हुई है। सैकड़ों घर नष्ट हो चुके हैं, कारें बह गई हैं और एयरपोर्ट पूरी तरह बंद हैं। मनुष्य अपनी जान बचा नहीं पा रहे हैं, ऐसे में इन जानवरों की सुरक्षा करने की किसे परवाह होगी? 

दोस्त बने, बेड भी गंदा नहीं किया

चेला फिलिप्स ने इस काम के फोटो फेसबुक सहित अन्य साइट पर पोस्ट की है। उन्होंने बताया, 79 डॉगी उन्होंने अपने मास्टर बैडरूम में रखे हुए हैं। मेरे लिए एक अच्छी बात यह है कि डॉगी मेरे बिस्तर पर नहीं कूद रहे हैं, न ही उसे गंदा कर रहे हैं। ये आपस में दोस्त बन चुके हैं। दोस्त बने, बेड भी गंदा नहीं किया पशु शरणार्थी शिविर के लिए क्राउड फंडिंग : चेला फिलिप्स ने अपने पशु शरणार्थी शिविर की मदद के लिए फेसबुक पर क्राउड फंडिंग के लिए पोस्ट डाली तो देखते ही देखते उसमें 73 हजार डॉलर (करीब 52 लाख 42 हजार रुपए) जमा हो गए। 

जानवरों को भोजन से ज्यादा दुलार चाहिए

संयुक्त राज्य में चेला ने 200 डॉगी के लिए एक घर बनाकर दिया है। उन्होंने अपने पेज पर लिखा है कि कोई काम असंभव नहीं होता, हमें इन प्राणियों के लिए कुछ करना है तो समय निकालना पड़ता है। ये सभी प्यार के भूखे हैं, भोजन से ज्यादा इन्हें दुलार चाहिए।