लोधी को लेकर विधानसभा जाऊंगा: भार्गव, स्पीकर एनपी प्रजापति ने कहा - मैं निष्पक्ष हूं

लोधी को लेकर विधानसभा जाऊंगा: भार्गव, स्पीकर एनपी प्रजापति ने कहा - मैं निष्पक्ष हूं

भोपाल विधानसभा का शीतकालीन सत्र 17 दिसंबर से शुरू होने वाला है,उससे पहले बर्खास्त विधायक प्रहलाद लोधी की सदस्यता को लेकर सस्पेंस बरकरार है। सदस्य बहाली को लेकर भाजपा लगातार विधानसभा अध्यक्ष पर आरोप लगा रही है। इस बीच लोधी की सदस्यता बहाल करने को लेकर नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव शुक्रवार सुबह स्पीकर एनपी प्रजापति से मिलने पहुंचे। मुलाकात के बाद भार्गव ने कहा कि वे प्रहलाद लोधी को लेकर विधानसभा जाएंगे। वहीं, विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति ने कहा-हम न्याय संगत काम करेंगे। विधानसभा अध्यक्ष के निवास पर स्पीकर एनपी प्रजापति और नेता प्रतिपक्ष के बीच करीब 20 मिनट तक लोधी की सदस्यता बहाली को लेकर चर्चा हुई। भार्गव ने कहा कि लोधी को हाई कोर्ट से स्टे मिल चुका है इसलिए विधानसभा को सदस्यता बहाल करना चाहिए।

विधानसभा अध्यक्ष का तर्क

मीडिया से चर्चा में विधानसभा अध्यक्ष ने तर्क दिया कि दि रिप्रेजेंटेशन ऑफ दि पीपुल एक्ट 1951 की धारा 8(3) में स्पष्ट है कि यदि किसी जनप्रतिनिधि को दो साल या इससे अधिक सजा हुई है तो वह अयोग्य हो जाएगा। सिर्फ दो साल से कम सजा मिलने पर ही अपील, सुनवाई और फैसला होने तक सदस्यता बरकरार रहती है। इसका प्रावधान 8 (4) में है। इसमें 30 से लेकर 60 दिन का वक्त अपील के लिए मिलता है।