जब ताई ने सक्रिय राजनीति से संन्यास लेने का फैसला किया तो मनाने गए थे : सज्जन वर्मा

जब ताई ने सक्रिय राजनीति से संन्यास लेने का फैसला किया तो मनाने गए थे : सज्जन वर्मा

इंदौर   प्रदेश सरकार के लोक निर्माण मंत्री सज्जनसिंह वर्मा ने गुरुवार को सांसद सुमित्रा महाजन से जुड़ा एक राज खोलते हुए कहा कि महाजन ने पहले भी एक मर्तबा सक्रिय राजनीति से संन्यास लेने का फैसला किया था, जब उन्हें मनाने वो खुद भी गए थे। उन्होंने कहा कि यह पहला मौका नहीं है जब सुमित्रा महाजन का इस तरह मोह भंग हुआ है और उन्होंने चुनाव नहीं लड़ने की बात कही है। मंत्री वर्मा ने कहा पहले भी ताई भाजपा नेताओं से इतनी नाराज हो गईं थी कि उन्होंने सक्रिय राजनीति छोड़ने की मंशा जाहिर कर दी थी। तब मैं और स्व. बाबूलाल पाटोदी ताई को मनाने उनके घर गए थे। वर्मा ने कहा कि सुमित्रा ताई का जहां तक सवाल है, उनके साथ हम सभी और इंदौर के लोगों का स्नेह है, भले ही हमारे राजनीतिक दल और राजनीतिक मान्यताएं अलग- अलग हों। ताई से जो एक पारिवारिक संबंध होते हैं वो हम सब लोगों के हैं। उन्होंने कहा कि तब मैंने ताई को कहा था कि आप जैसे लोग राजनीति छोड़ देंगे तो राजनीति में पवित्रता नहीं बचेगी। यदि आप जैसे लोग यदि राजनीति से दूर हो जाएंगे तो कैसे होगा, इसके बाद महाजन मान गईं थी और हम उसी दिन ताई को एयरपोर्ट एक कार्यक्रम में लेकर गए थे।

देश पर कब्जा करना चाहती है मोदी-शाह की जोड़ी-

मंत्री वर्मा ने कहा कि मोदी और शाह की जोड़ी तानाशाह है। उन्होंने भाजपा की स्थापना करने वाले सभी नेताओं को हाशिए पर डाल दिया। नरेन्द्र मोदी और अमित शाह अंबानी और अडानी के दम पर देश पर कब्जा करना चाहते हैं, लेकिन देश की जनता यह होने नहीं देगी। दोनों नेता पार्टी पर तो पहले से ही कब्जा जमा चुके हैं। इसीलिए उन नेताओं को निकालकर बाहर फेंक रहे हैं, जिन्होंने पार्टी रूपी पौधे को अपने खून और पसीने से सींच कर वटवृक्ष का स्वरूप दिया है।

कांग्रेस उम्मीदवार संघवी पहुंचे बडे नेताओं का आशीर्वाद लेने

पीपुल्स संवाददाता, इंदौर। इंदौर संसदीय सीट से कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में अपने नाम की घोषणा होने के दूसरे दिन पंकज संघवी ने बडेÞ नेताओं के घर-घर जाकर उनका आशीर्वाद लिया। गुरुवार को सुबह से अपने घर से निकले संघवी सबसे पहले अपनी शैक्षणिक संस्थाओं में पहुंचे और पदाधिकारियों के साथ ही स्कूल स्टॉफ के साथ शिक्षक और शिक्षिकाओं से भेंट की। इस दौरान संघवी के लोकसभा उम्मीदवार बनने पर गुजराती समाज की सभी शिक्षण संस्थाओं में एक बार फिर उत्साह का वातावरण बन गया है। यहां संघवी ने सभी को भरोसा दिलवाया कि उन्होंने शिक्षा के माध्यम से सभी समाजों की सेवा की है और इस बार फिर कांग्रेस पार्टी ने उन्हे यह मौका दिया है कि वो सभी के आशीर्वाद से चुनाव में विजय पाए। कांग्रेस प्रत्याशी संघवी ने गुरूवार को जिले के विभिन्न नेताओं से भी उनके घर-घर जाकर आशीर्वाद लिया। संघवी ने वरिष्ठ कांग्रेस नेता महेश जोशी से उनके आवास पर पहुंचकर उनका आशीर्वाद लिया। इसके बाद संघवी वरिष्ठ कांग्रेस नेता कृपाशंकर शुक्ला, और सुरजीतसिंह चड्ढा से भी मिले।