23 सीटों पर हार-जीत के अंतर से ज्यादा नोटा को मिले वोट

23 सीटों पर हार-जीत के अंतर से ज्यादा नोटा को मिले वोट

नई दिल्ली। सत्रहवीं लोकसभा की 542 सीटों के लिए हुए चुनाव में 23 सीटों पर ‘इनमें से कोई नहीं’ (नोटा) को हार-जीत के अंतर से ज्यादा वोट मिले हैं। निर्वाचन आयोग ने सबसे पहले वर्ष 2013 में पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में ईवीएम में सबसे नीचे उम्मीदवारों के बटन के बाद ‘नोटा’ का विकल्प दिया था ताकि यदि किसी मतदाता को कोई भी उम्मीदवार पसंद न आए तो वह इस विकल्प के जरिये अपना मत जाहिर कर सकता है। इस बार के लोकसभा चुनाव में आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल में चार-चार, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश तीन-तीन, ओडिशा और झारखंड में दो-दो तथा अंडमान एवं निकोबार, बिहार, कर्नाटक, महाराष्ट्र और तमिलनाडु में एक-एक सीट पर हारजीत् ा का फैसला नोटा पर पड़े मतों से भी कम के अंतर से हुआ।