दिल्ली हिंसा पर संसद में फिर हंगामा, 11 मार्च को सरकार चर्चा के लिए हुई तैयार

दिल्ली हिंसा पर संसद में फिर हंगामा, 11 मार्च को सरकार चर्चा के लिए हुई तैयार

नई दिल्ली । दिल्ली हिंसा को लेकर विपक्ष ने संसद के दोनों सदनों में मंगलवार को भी जमकर हंगामा किया। विपक्ष दिल्ली हिंसा पर चर्चा की मांग कर रहा है। सरकार ने उनकी इस मांग को स्वीकार कर लिया और होली के बाद इसपर चर्चा होगी। हालांकि इसके बाद भी लोकसभा में विपक्ष का हंगामा जारी रहा। वह तुरंत चर्चा की मांग कर रहा है। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने सदन को बताया कि सरकार दिल्ली हिंसा पर चर्चा को तैयार है। होली के बाद 11 तारीख को इस विषय पर चर्चा होनी चाहिए, लेकिन इसके बाद भी विपक्ष के सांसद हंगामा करते रहे।

चर्चा की मांग पर कहा जाता है, माहौल सामान्य नहीं

वहीं, केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत ने राज्यसभा में कहा कि विपक्ष जब भी चाहे हम चर्चा करने के लिए तैयार हैं। जवाब में कांग्रेस सांसद गुलाम नबी आजाद ने कहा कि दिल्ली में जो हुआ वह गंभीर है। हम जब सरकार से पूछते हैं तो वो कहते हैं कि सब कुछ सामान्य है। हम जब चर्चा की मांग करते हैं तो वे कहते हैं कि माहौल सामान्य नहीं है। 

स्पीकर बोले, नहीं माने, तो कर दूंगा निलंबित

सदन में विपक्षी सांसदों के हंगामे से लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला नाराज दिखे। स्पीकर ने सांसदों को वेल में नहीं आने की चेतावनी दी, साथ ही उन्होंने कहा कि अगर वे ऐसा करते हैं तो उन्हें पूरे सत्र के लिए निलंबित कर दिया जाएगा। लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि वे सांसदों को सदन में प्लेकार्ड और पोस्टर नहीं लाने देंगे। उन्होंने कहा कि विपक्ष ये साफ करे कि क्या वे प्लेकार्ड के साथ सदन में आना चाहते हैं। आप अगर प्लेकार्ड के साथ संसद चलाना चाहते हैं तो आप घोषणा करिए