रातों-रात चीजें नहीं बदल सकतीं, कुछ वक्त देना होगा : सुप्रीम कोर्ट

रातों-रात चीजें नहीं बदल सकतीं, कुछ वक्त देना होगा : सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को जम्मू- कश्मीर को लेकर कांग्रेस नेता तहसीन पूनावाला की याचिका पर सुनवाई की। पूनावाला ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने के बाद वहां लगाया गया कμर्यू हटाने, फोन-इंटरनेट और न्यूज चैनल पर लगे प्रतिबंध हटाने की भी मांग की थी। सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका पर फिलहाल सुनवाई करने से इनकार कर दिया। कोर्ट ने कहा कि रातोंरात चीजें नहीं बदल सकती हैं। राज्य में लगी पाबंदियों पर किसी प्रकार का आदेश नहीं दिया जाएगा। इसके साथ ही कोर्ट ने दो सप्ताह के लिए इस मामले की सुनवाई टाल दी। कोर्ट ने कहा कि सरकार को इस संबंध में पूरी आजादी के साथ कार्रवाई करने की छूट मिलनी चाहिए।

इस बार एक भी मौत नहीं हुई

सुनवाई के दौरान अटॉर्नी जनरल ने कोर्ट को बताया कि 1999 से अब तक कश्मीर में हुई हिंसा में अब तक 44 हजार लोग मारे गए हैं। पिछले साल जुलाई में 40 लोगों की मौत हुई थी, जबकि इस बार किसी की भी मौत नहीं हुई है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि यह मामला बेहद गंभीर है।