नदी की जमीन पाटकर बना दिए होटल और स्कूल भवन

नदी की जमीन पाटकर बना दिए होटल और स्कूल भवन

ग्वालियर। अतिक्रमण करने वालों ने मुरार नदी को भी नहीं छोड़ा। मुरार नदी के 5 में से 2 गेट ऐसे हैं, जिन्हें बंद कर उन पर अतिक्रमण कर निर्माण कार्य कर लिया गया। इसका खुलासा बुधवार को उस समय हुआ, जब विधायक मुन्नालाल गोयल ने एडीएम रिकेंश वैश्य और एसडीएम पुष्पा पुषाम के साथ हुरावली से कॉल्पी ब्रिज तक निरीक्षण किया। विधायक गोयल ने अधिकारियों के साथ मौके पर वस्तुस्थिति का अवलोकन किया तो पता चला कि मुरार नदी की जमीन पाटकर होटल और प्रायवेट स्कूल सहित कई बिल्ंिडग बना ली गर्इं। इससे विधायक गोयल की भृकुटी तन गई और उन्होंने अतिक्रमण करने वालों और संबंधित नगर निगम अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर के निर्देश दे दिए।

निर्माण की अनुमति के दिखाए दस्तावेज : इस दौरान खास बात ये सामने आई कि नदी की जमीन पर तनी हुई अवैध बिल्डिंग के मालिकों के दरवाजे जब प्रशासन की टीम ने खटखटाए तो उन्होंने बकायदा नगर निगम से इजाजत लेकर निर्माण कार्य कराए जाने के दस्तावेज पेश कर दिए। 4 घंटे के इस निरीक्षण में मिले तमाम अतिक्रमण और वहां निर्माण किए जाने से विधायक भी हैरान रह गए। विधायक ने मुरार नदी की जमीन पर अतिक्रमण करने वालों के साथ-साथ नगर निगम के उन तमाम अधिकारियों के खिलाफ भी एफआईआर कराने के निर्देश दिए, जिन्होंने सरकारी जमीन पर निर्माण की परमिशन आंखें बंद करके दी।

रिंग रोड का होगा निर्माण

विधायक ने बताया कि मुरार नदी पर दोनों ओर हुरावली से काल्पी ब्रिज तक 20-20 फीट की रिंग रोड बनाई जाएगी। इसके लिए उन्होंने अधिकारियों के साथ मौका मुआयना भी किया। इसका प्रस्ताव सरकार को भेज दिया गया है। विधायक गोयल ने इसके लिए एक वर्ष का विधायक फंड देने की घोषणा भी की।