मोबाइल एक्सेसरीज का स्टॉक खत्म होने को चीन से आने वाली चीजों रेट 20 प्रतिशत तक बढ़े

मोबाइल एक्सेसरीज का स्टॉक खत्म होने को चीन से आने वाली चीजों रेट 20 प्रतिशत तक बढ़े

भोपाल। अगर आपके पास सेमसंग, एमआई या किसी अन्य ब्रांड का फोन है तो यह जान लीजिए इसमें लगने वाली एक्सेसरीज और पार्ट्स चीन में फैले कोरोना वायरस के चलते महंगे हो गए हैं। इसके अलावा अन्य चीनी वस्तुएं भी स्टॉक में कमी की वजह से महंगी हो गई हैं। राजधानी में चीनी आइटम 20 से 25 फीसदी तक महंगे हो गए हैं। इसमें खासतौर पर मोबाइल एक्सेसरीज, मोेटर वाइंडिंग का कॉपर वायर, एलईडी टीवी साहित चीनी खिलौनों के भी दाम बड़े हैं। स्थानीय व्यापारियों और डिस्ट्रीब्यूटर्स के मुताबिक कोरोना वायरस के चलते भारत में चीनी वस्तुओं की डिलेवरी नहीं हो पा रही है। स्टॉक सीमित है और नया माल नहीं आने से दिक्कतें शुरू हो गई हैं। बता दें कि सिर्फ भोपाल से चीन का रोज 5 करोड़ रुपए से अधिक का बिजनेस किया जाता है।

चीन में छुट्टी बढ़ाने की वजह से नहीं पहुंच रहा माल

घोड़ानक्कास के डिस्ट्रीब्यूटर नवीन की मानें तो हर साल जनवरी में चीन में छुट्टी होती है, लेकिन इस वक्त छुट्टियां बढ़ा दी गई हैं। इस वजह से दिल्ली से माल प्राप्त करने में दिक्कतें हो रही हैं। ऐसे में मोबाइल एक्सेसरी, पार्ट्स महंगे हो गए हैं। हालत यह है कि जो ईयरफोन 50 रुपए में मिलता था, वह अब 70 से लेकर 80 रुपए में बेचा जा रहा है। इधर सिसका एलईडी लाइट्स के स्टॉक के बारे में एक डिस्ट्रीब्यूटर ने बताया कि उनके पास महज पांच महीने का स्टॉक है। माल बहुत कम आ रहा है।

खिलौने भी हुए मंहगे : चीन से आने वाले खिलौने भी महंगे हो गए हैं। महीने भर पहले जो चीनी मैजिक कार 700 रुपए की मिल रही थी। वह 900 रुपए में मिल रही है। यही म्यूजिकल गन और टैडी बियर का है। दुकानदारों के मुताबिक पिछले एक महीने में चीनी खिलौनों के रेट तेजी से बढ़े हैं।