दुनिया में आतंक का सबसे बड़ा केंद्र झूठी बातें कह रहा है : यूएन में भारत

दुनिया में आतंक का सबसे बड़ा केंद्र झूठी बातें कह रहा है : यूएन में भारत

जेनेवा। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में भारत ने पाकिस्तान के ‘दुर्भावनापूर्ण’ अभियान को दृढ़ता से खारिज कर दिया। विदेश मंत्रालय की पूर्वी मामलों की सचिव विजय ठाकुर सिंह ने यूएन में कहा कि एक डेलिगेशन यहां सीधे झूठी बातें कह रहा है। दुनिया जानती है कि यह बातें ऐसे आतंक के केंद्र से आ रही हैं जो लंबे समय से आतंकियों का पनाहगाह रहा है। जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करना भारतीय संसद द्वारा किया गया एक संप्रभु निर्णय है और देश अपने आंतरिक मामले में कोई हस्तक्षेप स्वीकार नहीं कर सकता। उन्होंने भारत के खिलाफ पाकिस्तान के आरोपों को खारिज किया और कहा-‘जब वास्तव में वे खुद षड्यंत्रकारी होते हैं, तो स्वयं को पीड़ित बताने लगते हैं।’इससे पहले पाक ने मांग की थी कि कश्मीर में स्थिति को लेकर अंतरराष्ट्रीय जांच करानी चाहिए।

पाक के विदेश मंत्री ने माना- जम्मू-कश्मीर भारत का राज्य

इससे पहले पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में कश्मीर का मुद्दा उठाया। पाक के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने यूएन से जम्मू- कश्मीर में भारत की कार्रवाई की जांच की मांग की। पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि भारत दुनिया को यह दशार्ने की कोशिश कर रहा है कि कश्मीर में जिंदगी सामान्य है। ऐसा है तो अंतरराष्ट्रीय मीडिया, संस्थान और एनजीओ को भारत अपने राज्य जम्मू-कश्मीर क्यों नहीं जाने देता?