लगातार 6 दिनों की गिरावट के बाद संभला शेयर बाजार

लगातार 6 दिनों की गिरावट के बाद संभला शेयर बाजार

मुंबई। कंपनियों के तिमाही परिणाम जारी होने से पहले बैंंिकग और वित्त क्षेत्र की कंपनियों में निवेशकों की लिवाली से बुधवार को स्थानीय शेयरा बाजारों में लगातार छह दिनों की गिरावट का सिलसिला टूटा और सेंसेक्स में करीब साढे छह सौ अंक का उछाल आया। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 645.97 अंक यानी 1.72 प्रतिशत की तेजी के साथ 38,177.95 अंक पर बंद हुआ।इसी तरह एनएसई का निμटी भी 186.90 अंक यानी 1.68 प्रतिशत की मजबूती लेकर 11,313.30 अंक पर बंद हुआ। घरेलू शेयर बाजार ने कारोबार की सतर्क शुरुआत की। बैंंिकग, वित्त व दूरसंचार कंपनियों में लिवाली आने से दोपहर के कारोबार में बाजार में तेजी आयी। विश्लेषकों ने कहा कि कें्रद सरकार द्वारा महंगाई भत्ता बढ़ाने की घोषणा से भी बाजार की धारणा को बल मिला। सेंसेक्स की कंपनियों में इंडसइंड बैंक सर्वाधिक 5.45 प्रतिशत की तेजी में रहा। इसके बाद तेजी में रहे अन्य शेयरों में भारती एयरटेल, आईसीआईसीआई बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, मंिह्रदा एंड मंिह्रदा, कोटक बैंक, टाटा स्टील और एचडीएफसी बैंक का स्थान रहा। येस बैंक को सर्वाधिक 5.26 प्रतिशत का नुकसान हुआ। इसके बाद हीरो मोटोकॉर्प, एचसीएल टेक, आईटीसी, टीसीएस, इंफोसिस, ओएनजीसी और बजाज आॅटो के शेयर 2.65 प्रतिशत तक की गिरावट में रहे। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘कई दिनों की गिरावट के बाद बाजार में तेजी लौटी और निμटी आराम से 11,300 अंक के स्तर को पार कर गया। सरकार द्वारा महंगाई भत्ता पांच प्रतिशत बढ़ाने से त्योहारी मांग को बल मिलेगा। आने वाले समय में कंपनियों के तिमाही परिणाम बाजार की चाल तय करेंगे। निवेशकों को त्योहारी मांग तथा अच्छे मानसून के कारण बाजार में तेजी की उम्मीद है। बीएसई में दूरसंचार क्षेत्र के सूचकांक में सर्वाधिक 4.92 प्रतिशत की तेजी रही। इसके बाद बैंंिकग सूचकांक में 3.67 प्रतिशत, वित्त में 2.84 प्रतिशत, धातु में 2.12 प्रतिशत, रियल्टी में 1.99 प्रतिशत, बेसिक मटीरियल्स में 1.95 प्रतिशत और ईंधन में 0.98 प्रतिशत की तेजी रही। हालांकि आईटी, टिकाउ उपभोक्ता उत्पाद तथा टेक में 0.92 प्रतिशत तक की गिरावट रही। बीएसई का मिडकैप 1.38 प्रतिशत और स्मॉलकैप सूचकांक 0.66 प्रतिशत की बढ़त में रहा। मंगलवार को दशहरा के कारण शेयर बाजार बंद रहे थे। रुपया कारोबार के दौरान तीन पैसे की गिरावट के साथ 70.98 रुपए प्रति डॉलर पर चल रहा था। ब्रेंट क्रूड का वायदा 1.08 प्रतिशत की बढ़त लेकर 58.77 डॉलर प्रति बैरल पर चल रहा था। अमेरिका और चीन की व्यापार वार्ता को लेकर जारी आशंकाओं के कारण एशियाई बाजार मिश्रित रहे। यूरोपीय बाजार ने कारोबार की मजबूती के साथ शुरुआत की।