सिंधिया समर्थक पीसीसी के छह पदाधिकारियों ने इस्तीफे भेजे

सिंधिया समर्थक पीसीसी के छह पदाधिकारियों ने इस्तीफे भेजे

ग्वालियर। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राहुल गांधी के बाद महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा भी अपने पद से इस्तीफा दिए जाने के बाद अब सिंधिया के घर ग्वालियर में भी इस्तीफा देने की होड़ लग गई है। मंगलवार को प्रदेश उपाध्यक्ष एवं पूर्व विधायक रमेश अग्रवाल एवं पांच महामंत्रियों ने अपने-अपने पद से इस्तीफा प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ को भेजे हैं। सिंधिया गुट के अलावा दिग्विजय सिंह समर्थक प्रदेश महांत्री दुष्यंत साहनी ने अपना इस्तीफा राहुल गांधी को भेजा है। देश में कांग्रेस की करारी हार के बाद राहुल गांधी ने सबसे पहले अध्यक्ष पद से इस्तीफा देकर सबको दंग कर दिया था। इसके बाद राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी पद से इस्तीफा दे दिया। सिंधिया के प्रति अपनी-अपनी निकटता दिखाने के लिए प्रदेश के कार्यवाहक अध्यक्ष रामनिवास रावत ने भी पद छोड़ने की घोषणा की थी। इसके बाद अन्य पदाधिकारियों के ऊपर भी सिंधिया के प्रति निकटता दिखाने का दबाव बढ़ गया। इसीलिए मंगलवार को एक होटल में मीडिया को बुलाया और प्रदेश उपाध्यक्ष रमेश अग्रवाल, प्रदेश महामंत्री सुनील शर्मा, प्रदेश महामंत्री एवं पूर्व विधायक रामवरण सिंह गुर्जर, सुरेन्द्र शर्मा, किशन मुदगल तथा अर्जुन जाटव ने भी अपना-अपना प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ को भेजे हैं। पत्रकारवार्ता में सुरेन्द्र सिंह परमार, लतीफ खान, प्रमोद पांडेय सहित कई लोग मौजूद थे।

दिग्गी समर्थक ने भी दिया इस्तीफा

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह समर्थक प्रदेश महामंत्री दुष्यंत साहनी ने भी राहुल गांधी को इस्तीफा भेजा है। उनका कहना है कि जब हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं महासचिव इस्तीफा दे चुके हैं तो किसी अन्य को पद पर बने रहने का नैतिक अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि मैने अपना इस्तीफा बड़े नेताओं का अनुशरण करते हुए दिया है।