समुद्र में अचानक प्रकट हुए जहाज यह आज भी बने हैं रहस्य

समुद्र में अचानक प्रकट हुए जहाज  यह आज भी बने हैं रहस्य

समुद्र की अथाह दुनिया में अजीबो-गरीब चीजें हैं। इनमें शामिल हैं कुछ गुमनाम जहाज और खजाने भी। इस बार हम बात कर रहे हैं कुछ ऐसी जहाज की जो गायब होने पर रहस्य बने हुए थे और जब ये अचानक समुद्र से प्रकट हुए तो इनका रहस्य और भी गहरा हो गया। इनमें से कुछ तो ऐसे हैं जिनके प्रकट होने के सालों बीत जाने के बाद भी यह पता नहीं लग पाया है कि आखिर इन जहाज के साथ क्या हुआ था।

1मैरी कैलेस्टे: नवम्बर 1872 में कप्तान बेंजामिन ब्रिग्ग्स अपनी पत्नी, बेटी और 8 साथियो के साथ इस जहाज पर न्यूयॉर्क से इटली जाने के लिए सवार हुए लेकिन एक महीने से भी कम समय में ये जहाज वीरान हो गया। इस जहाज की लाइफ बोट गायब थी, लेकिन इस पर 6 महीने तक का खाना मौजूद था। इस जहाज को किसी भी तरह का कोई भी नुकसान नहीं पंहुचा था और ना ही किसी प्रकार के झगडेÞ के निशान मौजूद थे। ये आज भी एक रहस्य है की वो सभी लोग कहा गायब हो गए। अब भी ये जहाज दुनिया के सबसे डरावने और रहस्यमयी जहाजों में से एक माना जाता है।

द लूनाटिक: द लूनाटिक के पीछे की कहानी जुड़े सतर्क नाम के 72 साल के एक व्यक्ति की है। वो दो वर्ल्ड रिकार्ड्स बनाना चाहते थे। पहला इस दुनिया के सबसे उम्र दराज व्यक्ति जिसने बिना रुके इस दुनिया का चक्कर लगाया हो और दूसरा वो भी बिना इंजन वाली एक नाव में। वो किसी भी प्रकार से नौसिखिये नहीं थे क्योंकि वो साल 1991 में पहले भी एक बार ऐसा कर चुके थे और अपने अनुभव के बारे में चार किताबें भी लिख चुके थे। साल 2009 के शुरूआत में पास से गुजरते हुए एक शिप को जुड़े की नाव मिली लेकिन वो खाली थी और इमरजेंसी बोट भी गायब थी। आज तक जुड़े का कोई भी अता पता नहीं है कि वह आखिर कहां गए।

कोरियाई पेओपल्स आर्मी घोस्ट बोट: जापान के समुद्री तट पर 12 छोटी-छोटी नाव मिली। इन नावों की हालात देख कर ऐसा लगता था मानो वो काफी सालों से पानी में थी लेकिन हैरानी की बात ये है कि इन नावों पर 22 रहस्यमयी लाशें मिली थी जिनमें से कुछ के सर धड़ से अलग किए हुए थे और 6 खोपड़ियां भी मिलीं। इन नावों पर कोरियाई पीपल आर्मी का एक झंडा भी था। ये आज भी एक रहस्य है की इन नावों पर हुआ क्या था।

मानफ्रेड फ्रिट्ज बाजोरात नाव: फिलिपिनो के एक लोकल मछुवारे को एक खोई हई छोटी नाव में जर्मन सेलर मानफ्रेड फ्रिट्ज बाजोरात की लाश कुर्सी पर बैठे हुए एक ममी के रूप में मिली। बाजोरात का जहाज साल 2001 से 2016 तक गायब रहा था। ये आज भी एक रहस्य है की उनका शरीर इतनी जल्दी और इतने कम समय में ममी में कैसे तब्दील हो गया।

द रेसोल्वें: साल 1884 के अगस्त महीने में अच एम अस मल्लार्ड के नाविकों को द रेसोल्वें नाम का जहाज समुद्र पर तैरता हुआ मिला। उन नाविकों ने द रेसोल्वें को सिग्नल भेजा लेकिन जवाब ना आने वह जहाज पर पहुंचे। वहां जाने पर उन्होंने देखा की वहां कोई मौजूद नहीं था लेकिन टेबल पर खाना परोसा हुआ था और लाइफ बोट गायब थी। ऐसा माना जाता है की कोई उस जहाज से सोने के सिक्कों को चुरा कर भाग गया है।