शेड के डिजाइन की खामी ने हबीबगंज स्टेशन से छीन लिया ‘वर्ल्ड क्लास’ स्टेशन का तमगा

शेड के डिजाइन की खामी ने हबीबगंज स्टेशन से छीन लिया ‘वर्ल्ड क्लास’ स्टेशन का तमगा

भोपाल ‘वर्ल्ड क्लास स्टेशन’ कहे जाने वाले हबीबगंज रेलवे स्टेशन पर शेड डिजाइनिंग में बड़ी खामी सामने आई है। इस रेलवे स्टेशन पर ओएचई लाइन के पोल सीधे प्लेटफॉर्म पर शेड को काटकर उतार दिए गए हैं। इससे बारिश का पानी प्लेटफॉर्म पर आएगा। इसकी वजह से इसकी डिजाइन भी खराब हुई है। गौरतलब है कि रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर हबीबगंज रेलवे स्टेशन को वर्ल्ड क्लास स्टेशन का नाम दिया था, लेकिन कुछ दिनों बाद ही प्लेटफॉर्म के शेड डिजाइनिंग और अन्य कई खामियों के चलते प्रोजेक्ट का नाम अब ‘रीडेवलेपमेंट वर्क ऑफ हबीबगंज स्टेशन’ कर दिया गया है। सूत्रों के अनुसार, रेलवे स्टेशन का डेवलपमेंट कर रही बंसल कंपनी ने टेंडर के समय भी रेलवे को ओएचई लाइन के इन पोल से संबंधित परेशानियों के बारे में बताया था, लेकिन जब रेलवे ने इस मामले में कोई सुनवाई नहीं की तो कंपनी ने इन पोल के बीच से ही शेड का निर्माण कर दिया। जानकारी के अनुसार, हबीबगंज रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म नंबर-1 को छोड़कर लगभग सभी प्लेटफार्मों पर शेड के निर्माण का कार्य करीब 80 प्रतिशत पूरा हो गया है। लेकिन इस बीच यहां से निकलने वाली ओएचई लाइन के पोल (13- 14 ) हर एक प्लेटफार्म पर खुले हुए हैं। हालांकि इसे सुरक्षा की दृष्टि से ठीक नहीं माना जाता।

‘वर्ल्ड क्लास’ शब्द हटाया

टेंडर जारी करने तक रेल मंत्रालय और रेल मंत्री ने हबीबगंज स्टेशन को वर्ल्ड क्लास स्टेशन बनाने का दावा भी किया था। वहीं कंपनी के साथ किए गए अनुबंध एवं डॉक्यूमेंटेशन से ‘वर्ल्ड क्लास’ शब्द को हटा दिया गया है। इन दिनों आधिकारिक रूप से इसे ‘हबीबगंज स्टेशन का पुनर्विकास कार्य’ लिखकर उल्लेख किया गया है।