कोरोना वायरस संक्रमित रोगी के संपर्क से रोबोट बचाएगा पूरी मेडिकल टीम को

कोरोना वायरस संक्रमित रोगी के संपर्क से रोबोट बचाएगा पूरी मेडिकल टीम को

बीजिंग। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच चीनी वैज्ञानिकों ने एक ऐसा रोबोट बनाया है, जो डॉक्टरों को स्वास्थ्य परीक्षण के लिए मरीज के पास जाने से बचाएगा। रोबोट में लगी आर्म मरीजों के अल्ट्रासाउंड, गले के स्वाब के नमूने से लेकर उसके हृदय की धड़कन एवं नब्ज टटोलने तक का काम करेगी। इन सभी परीक्षणों के लिए मेडिकल टीम को उस कमरे में जाने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी, जहां मरीज भर्ती है। डॉक्टर अपने लैपटॉप से शहर के किसी भी स्थान पर भर्ती मरीज के स्वास्थ्य की जांच कर सकेंगे। ऐसे एक रोबोट बनाने में करीब 54,59,090 रुपए की लागत अनुमानित है।

मेडिकल स्टाफ को बचाना उद्देश्य : इस उपकरण को बनाने का उद्देश्य मेडिकल स्टाफ को बचाना है। इस रोबोट को डिजाइन करने वाले सिंघुआ यूनिवर्सिटी के प्रो. झेंग गांग्टी का कहना है कि कोरोना से संक्रमित मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण करना भी जोखिम भरा होता है। खुद को डिसइन्फेक्ट भी कर लेगा रोबोट: यह रोबोट मरीजों के स्वास्थ्य की जांच के साथ परीक्षण के बाद खुद को डिसइन्फेक्ट भी कर लेगा। रोबोट को डिजाइन करने में उसी टेक्नोलॉजी का उपयोग किया गया है, जोकि स्पेस स्टेशन एवं चंद्र अभियान के लिए बनाए गए रोबोट में की गई है।