ई-चालान का मिला नोटिस तो भरने पहुंचा, थमा दिए 19 और चालान

ई-चालान का मिला नोटिस तो भरने पहुंचा, थमा दिए 19 और चालान

इंदौर। ट्रैफिक पुलिस द्वारा 19 चालान थमाने के बाद मंगलवार को एक आॅटो चालक एसएसपी की जनसुनवाई में पहुंचा। आॅटो चालक के अनुसार, ई-चालान को लेकर एक नोटिस मिलने के बाद वह उसे भरने पहुंचा, लेकिन वहां पर उसे 19 चालान पकड़ा दिए गए और करीब 10 हजार रुपए भरने को कहा। वहीं मुख्यालय पर जनसुनवाई कर रहे एसपी सूरज वर्मा ने नियम तोड़ने पर पीड़ित से चालान भरने की बात कही है।

2017 से तोड़ रहा था ट्रैफिक नियम- दरअसल, आॅटो चालक अशोक आमधने निवासी विद्युत नगर 2017 से ट्रैफिक नियम तोड़ता आ रहा था। चौराहे पर लगे कैमरों के जरिए नियम तोड़ने के साथ ही ई- चालान बनते जा रहे थे। हाल ही में उसे ट्रैफिक पुलिस लारा ई-चालान भरने के लिए एक नोटिस भेजा गया था, जिसके बाद वह 12 सितंबर को ई-चालान भरने पहुंचा, लेकिन वहां पर विभाग द्वारा रिकॉर्ड चेक कर उसे अब तक बने चालान पकड़ा दिए गए। 19 चालान सामने देख उसके होश उड़ गए। हाल ही में बने चार चालान तो भर दिए, लेकिन बाकी के चालान लेकर जनसुनवाई में पहुंचा। अशोक का कहना है कि उसे यदि समय पर चालान मिल जाते तो वो शुल्क जमा कर देता और इसी डर से वो नियम भी नहीं तोड़ता नए नियम का मामला नहीं वहीं एसपी सूरज वर्मा के मुताबिक, आॅटो चालक ने नियम तोड़े हैं तो उसका भुगतान तो करना होगा, लेकिन आम जनता नियम से बचने के लिए नहीं, बल्कि अपने सुरक्षा के लिए यातायात नियम का पालन करे। एसपी मुख्यालय सूरज वर्मा ने बताया कि यह नए नियम का मामला नहीं है। यह ई-चालान का मामला है। आप यदि लगातार 7 दिन तक ट्रैफिक नियम का तोड़ते हैं तो स्वत: ही चालान जनरेट हो जाते हैं। ऐसे में हो सकता है नियम तोड़ने वालों को एक साथ सातों चालान मिले। नियमानुसार इतने चालान पर लाइसेंस निरस्तीकरण भी हो सकता है, लेकिन हम यह देखते हैं कि उसने किस प्रकार का नियम तोड़ा है। हम लाइसेंस निरस्त कर किसी के रोजी-रोटी पर संकट खड़ा नहीं करना चाहते हैं, लेकिन उसने नियम तोड़े हैं तो नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।