राहत की बारिश, अब तक 22 इंच

राहत की बारिश, अब तक 22 इंच

इंदौर। शहर में लगातार हो रही बारिश से मौसम में ठंडक आ गई है। बारिश के कारण शहर के कई हिस्सों में पानी भर गया है। मौसम विभाग ने अगले दो दिन में इंदौर में भारी बारिश की चेतावनी दी है। इसके साथ ही बुधवार सुबह से हो रही रिमझिम बारिश ने मौसम को खुशगवार बना दिया है। आधी रात के बाद मौसम ने करवट बदली और हलकी बारिश रात में ही शुरू हो गई। पूरी रात रुक-रुककर बूंदाबांदी तो कभी तेज पानी गिरता रहा। बुधवार सुबह से ही इंदौर में रिमझिम बारिश हो रही है। सुबह 8.30 बजे से रात 8 बजे तक 14.8 मिमी बारिश दर्ज की गई है। मौसम विभाग के अनुसार अब तक कुल 542.9 मिमी (करीब 22 इंच) बारिश हो चुकी है। सुबह का तापमान 24 डिग्री रहा। मौसम विभाग के अनुसार बारिश का दौर अगले तीन दिन तक जारी रहेगा। औसत से दो इंच ज्यादा मौसम विभाग के अनुसार 7 अगस्त तक औसतन 491.4 मिमी बारिश होना मानी जाती है। इंदौर में अब तक 542.9 मिमी बारिश हो चुकी है। अब तक 51.5 मिमी यानी दो इंच अधिक बारिश हो चुकी है। वैसे मानसून के मौसम में कुल 876.2 मिमी बारिश होना माना जाता है। ओडिशा के ऊपर बने सिस्टम से बरसे मेघ मौसम विभाग के भोपाल केंद्र के अनुसार ओडिशा के ऊपर एक सिस्टम बना हुआ है, जिसका असर मप्र पर भी हो रहा है। इसलिए कम से कम तीन दिन तक बारिश के आसार हैं। संभवत: गुरुवार को यह सिस्टम मप्र की तरफ मुड़ेगा जिसके कारण तेज बारिश हो सकती है। अभी यह सिस्टम दक्षिण-पूर्वी हिस्से में है।

दो दिन तेज बारिश

संभव मौसम विभाग ने अगले दो दिन के अंदर इंदौर में तेज बारिश की चेतावनी दी है। मौसम विभाग के स्थानीय कार्यालय द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार अब तक इंदौर में करीब 22 इंच बारिश हो चुकी है। अगले दो दिनों में तेज बारिश की संभावना है।

एक दिन में 10 मिनट से ज्यादा बंद नहीं रही बिजली

इस बार बारिश के मौसम में एक दिन में 10 मिनट से ज्यादा पूरे इंदौर-उज्जैन संभाग में कहीं भी बिजली बंद नहीं रही। यह दावा मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा किया गया है। कंपनी के प्रबंध संचालक विकास नरवाल का कहना है कि कंपनी के कर्मचारी-अधिकारी निर्बाध बिजली आपूर्ति में जिम्मेदारी से लगे हुए हैं। पिछले एक दिन में सभी जिलों में घरेलू फीडरों पर औसतन 23 घंटे 50 मिनट की बिजली आपूर्ति हुई। एक दिन में पंद्रह जिलों में कुल पौने पांच करोड़ यूनिट बिजली का वितरण किया गया। कुछ फीडरों पर 23 घंटे 40 मिनट तो कुछ पर पूरे 24 घंटे सप्लाय हुआ। बताया गया है कि तापमान गिरने से पहले की तुलना में आबादी क्षेत्र में बिजली की मांग कम हुई है। कंपनी स्तर पर बिजली की ताजा मांग अधिकतम 2500 मेगावॉट है, जबकि इंदौर शहर की मांग करीब 400 मेगावॉट है।