पेशी पर आया कैदी, बजी मोबाइल की घंटी, ढूंढा सब जगह, मिला पेट में

पेशी पर आया कैदी, बजी मोबाइल की घंटी, ढूंढा सब जगह, मिला पेट में

नई दिल्ली। तिहाड़ में बंद एक विचाराधीन कैदी को कोर्ट में पेशी के बाद जब जेल लाया गया तो, कैदी की जांच के वक्त अचानक फोन की घंटी बजने लगी। सुरक्षाकर्मियों ने चारों ओर देखा, पर उन्हें पता नहीं चला कि घंटी कहां बज रही है। उन्होंने महसूस किया कि घंटी की आवाज कैदी के पास से ही आ रही है। कैदी की जेब आदि जांची गईं, कुछ नहीं मिला। सुरक्षाकर्मियों ने ध्यान से आवाज सुनी तो पता चला कि फोन की घंटी कैदी के पेट में जब रही थी। पूछताछ में पता चला कि उसने अंगुली के आकार का मोबाइल और चार्जर की लीड निगल रखी है। बाद में किसी तरह से फोन तो उसके पेट से बाहर निकलवा लिया गया, लेकिन लीड अभी भी उसके पेट के अंदर ही है। घटना तिहाड़ की जेल नंबर-4 की बताई जा रही है। हालांकि, मामले में एक अधिकारी ने कैदी के पेट के अंदर से मोबाइल फोन मिलने की बात की तो पुष्टि की है। लेकिन पेट के अंदर घंटी बजी थी या नहीं, इसकी जांच की जा रही है।

मंडोली जेल में भी हुआ था ऐसा मामला, निगले थे 4 फोन

ऐसा ही एक और मामला पिछले दिनों मंडोली जेल में भी आया था। बताया जाता है कि यहां एक कैदी ने छोटे आकार के 4 फोन निगल लिए थे। पता लगने पर 3 तो निकलवा लिए गए, लेकिन एक अभी भी उसके पेट के अंदर है। वैसे, तिहाड़ जेल के एडिशनल आईजी राजकुमार का कहना है कि मंडोली जेल वाले मामले में उस विचाराधीन कैदी ने एक ही फोन निगला था, जिसे निकलवा लिया गया है।