सिंधिया की डिनर डिप्लोमैसी के निकाले जा रहे राजनीतिक मायने

सिंधिया की डिनर डिप्लोमैसी के निकाले जा रहे राजनीतिक मायने

भोपाल ।  प्रदेश में गुरुवार को अचानक राजनीतिक पारा चढ़ गया। खासकर पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भोपाल पहुंचे। पहले वे विधानसभा गए और समर्थकों से मिले, इसके बाद मीडिया से बात की और फिर सीएम हाउस में मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ लंच किया। सिंधिया करीब दो घंटे पीसीसी में भी रहे और प्रदेशभर से आए कांग्रेस कार्यकर्ताओं से उन्होंने अलग-अलग मुलाकात भी की। रात्रि में उनके समर्थक मंत्री तुलसी सिलावट के सरकारी निवास पर डिनर का भी आयोजन किया गया, जिसमें सीएम, मंत्री, विधायक और सपा, बसपा विधायकों को भी आमंत्रित किया गया था। इस डिनर में पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह और सुरेश पचौरी भी शामिल हुए। कांग्रेस महासचिव पद से इस्तीफा देने के बाद गुरुवार को पहली बार ज्योतिरादित्य सिंधिया भोपाल आए हैं। सिंधिया के एयरपोर्ट पर उतरते ही मीडिया ने उन्हें घेर लिया और सवाल दागा अध्यक्ष बनेंगे या नहीं। उन्होंने कहा इसका फैसला पार्टी लेंगी और चलते बने। उनके समर्थक कभी उन्हें प्रदेश अध्यक्ष बनाने की मांग करते दिखे, तो कभी राहुल की जगह राष्टÑीय अध्यक्ष बनाने की अपील करते पोस्टर लगा रखे थे। सबसे ज्यादा पोस्टर खाद्य मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के पीसीसी से लेकर विधानसभा तक लगे। समर्थर्कों की इस ख्वाहिश के बीच जब सिंधिया आए तो स्वाभाविक रूप से हलचल मच गई। वे करीब एक घंटे तक विधानसभा की कार्यवाही में शामिल हुए और इस दौरान कई मंत्रियों विधायकों ने अध्यक्षीय दीर्घा में जाकर सिंधिया के पैर छुए, नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह जब सिंधिया से मिलने पहुंचे तो सिंधिया ने उन्हें गले लगाया। विधानसभा में ही सिंधिया ने पत्रकारों से बातचीत की, तो मंच पर सिंधिया के साथ उनके समर्थक मंत्री प्रभुराम चौधरी, गोविंद राजपूत, प्रद्युम्न सिंह तोमर, इमरती देवी तथा तुलसी सिलावट सहित कुछ विधायक भी मौजूद थे। सिंधिया की गुरुवार को भोपाल में देखने को मिली सक्रियता से अंदाजा लगाया जा सकता है कि उन्हें पार्टी द्वारा प्रदेश अध्यक्ष बनाया जा सकता है। वैसे सिंधिया राष्ट्रीय अध्यक्ष की भी दौड़ में बताए जाते हैं। इधर सिंधिया बीमार चल रहे पूर्व मंत्री सरताज सिंह, कांग्रेस नेता महेश जोशी और वरिष्ठ पत्रकार ओम मेहता को देखने हास्पिटल पहुंचे।

सीएम के साथ किया लंच

दोपहर में करीब डेढ़ से ढाई बजे तक सिंधिया मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ सीएम हाउस में रहे और दोनों ने एक साथ लंच किया। इसके बाद वे पीसीसी पहुंचे और अपने समर्थकों के साथ ही अन्य कांग्रेसी नेताओं के साथ चर्चा की, सिंधिया करीब दो घंटे तक पीसीसी में रहे और शाम को न्यू मार्केट स्थित इंडियन काफी हाउस में पत्रकारों सहित अन्य लोगों के साथ चर्चा की। बाद में वीआईपी गेस्ट हाउस में अलग-अलग नेताओं और पत्रकारों से चर्चा की।