गौशाला खोलने के इच्छुक लोगों को शासकीय भूमि उपयोग का अधिकार मिलेगा

गौशाला खोलने के इच्छुक लोगों को शासकीय भूमि उपयोग का अधिकार मिलेगा

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने निर्देश दिये है कि जो भी व्यक्ति या संस्था गौशाला खोलना चाहता है उसे शासकीय भूमि उपयोग का अधिकार दिया जायें। श्री कमलनाथ ने आज यहां प्रोजेक्ट गौशाला की प्रगति की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि गौशाला खोलने के लिये इच्छुक व्यक्ति और संस्था को शासकीय भूमि उपयोग का अधिकार दिया जाये। उन्होंने जिला पशु कल्याण समितियों का पुर्नगठन कर सभी ब्लाक में भी पशु कल्याण समिति गठित करने के निर्देश भी दिये हैं। आधिकारिक जानकारी के अनुसार इस बैठक में बताया की गौशाला प्रोजेक्ट में 955 गौशाला का काम प्रारंभ हो गया है और 614 गौशालायें वर्तमान में चल रही है। संचालित गौशालाओं में वर्तमान 1 लाख 60 हजार गायों का पालन पोषण किया जा रहा है। इस अवसर पर श्री कमलनाथ ने कहा कि प्रोजेक्ट गौशाला के कार्यों में गति लाई जाए और समय सीमा निर्धारित कर जानकारी उन्हें दी जाए की कौन सी गौशाला कब तक शुरू हो जाएगी। उन्होंने प्रदेश में गायों के संरक्षण के लिए प्रदेश में एक आंदोलन खड़ा कर इससे अधिक से अधिक लोगों को जोड़ने को कहा। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि पूरे प्रदेश में अधिक से अधिक गौशालायें खुलें। उन्होंने गौशाला प्रोजेक्ट का विदेशों में अप्रवासी भारतीयों के बीच भी व्यापक प्रचार-प्रसार करने को भी कहा है। श्री कमलनाथ ने पशुपालन विभाग को गौशालाओं के प्रबंधन में आम लोगों की भागीदारी बढ़ाने के लिये कदम उठाने के निर्देश दिये। पशु चारे के लिये अनुदान राशि 20 रुपये प्रतिदिन कर दी गई है। इसके लिये बजट प्रावधान किया जायेगा। उन्होंने गौशालाओं के कम लागत के आदर्श डिजाइन तैयार करने के लिए इच्छुक संस्थाओं से प्रस्ताव बुलाने के भी निर्देश दिये हैं।