प. बंगाल से लाया गया एक करोड़ का ओपीयम पाउडर जब्त, तीन पकड़े गए

प. बंगाल से लाया गया एक करोड़ का ओपीयम पाउडर जब्त, तीन पकड़े गए

भोपाल  । मप्र पुलिस की स्पेशल टॉस्क फोर्स ने अंतरराज्यीय गिरोह के तीन तस्करों को गिरμतार कर मादक पदार्थ बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाले एक किलो ओपीयम पाउडर बरामद किया है। इसकी कीमत एक करोड़ रुपए बताई जा रही है। तस्कर यह पाउडर पश्चिम बंगाल से भोपाल में किसी पार्टी को देने आए थे। तस्करों के खिलाफ एनडीपीएस का मामला दर्ज कर उन्हें पूछताछ के लिए दो दिन के पीआर पर लिया गया है। एसटीएफ के सोमवार को सूचना मिली थी कि नादरा बस स्टैंड पर कुछ संदिग्ध युवक भारी मात्रा में मादक पदार्थ लिए हुए हैं। जोकि किसी ग्राहक को सप्लाई करने का इंतजार कर रहे हैं। एसटीएफ की टीम ने मौके पर घेराबंदी कर मौके से तीन संदेहियों नामली, रतलाम निवासी दीपक पिता शांतिलाल लोढ़ा (24), इंद्रा कॉलोनी, मंदसौर निवासी अहमद उर्फ नारू पिता मोहम्मद हुसैन (32) और मल्हागढ़, मंदसौर निवासी अर्जुन पिता प्रभुलाल (25) को हिरासत में लिया। तलाशी लेने पर उनके पास एक किलोग्राम अफीम का ओपीयम पाउडर (मादक पदार्थ तैयार करने का शुद्घ पाउडर) बरामद किया गया। एसटीएफ की प्रारंभिक पूछताछ में तस्करों ने बताया कि वह यह मादक पदार्थ मालदा, पश्चिम बंगाल से 35 लाख रुपए में खरीदकर लाए थे। जोकि उन्हें भोपाल और एक अन्य जगह आधा-आधा सप्लाई करना था। एसटीएफ ने तस्करों को एनडीपीएस एक्ट के तहत गिरμतार पूछताछ के लिए दो दिन के पीआर पर लिया है। वहीं, कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी है।

मप्र समेत अन्य राज्यों में करते हैं सप्लाई

तस्करों ने बताया कि वे मप्र समेत राजस्थान, यूपी, दिल्ली में भी मादक पदार्थ की सप्लाई करते हैं। उक्त मादक पदार्थ का उपयोग खासकर ब्राउन शुगर, हैरोइन और स्मैक बनाने में किया जाता है।

बांग्लादेश और वर्मा से आता है पाउडर

पूछताछ में तस्करों ने कबूला कि वह पश्चिम बंगाल के जिन तस्करों से यह पाउडर खरीदते हैं, वह इसका कच्चा माल बार्डर पार यानी बांग्लादेश या वर्मा से लेकर आते हें। जहां उन्हें यह मादक पदार्थ सस्ता पड़ता है।

एसटीएफ अफसर और टीम सम्मानित

उक्त कार्रवाई को लेकर एडीजी एसटीएफ अशोक अवस्थी ने राजपत्रित अधिकारियों को प्रशंसा पत्र और टीआई एसडी नायर व उनकी टीम को नगद पुरस्कार देने की घोषणा की है।