निर्भया केस: विनय की अपील, फांसी को उम्रकैद में बदल दें

निर्भया केस: विनय की अपील, फांसी को उम्रकैद में बदल दें

नई दिल्ली। निर्भया केस के एक दोषी विनय शर्मा ने राष्ट्रपति द्वारा दया याचिका खारिज करने को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। विनय के तरफ से पेश हुए वकील एपी सिंह ने फांसी को आजीवन कारावास में बदलने की भी अपील की। राष्ट्रपति ने 1 फरवरी को विनय की याचिका खारिज की थी। निचली अदालत ने चारों दोषियों की फांसी पर अगले आदेश तक रोक लगा दी है। विनय शर्मा, मुकेश सिंह, पवन गुप्ता और अक्षय ठाकुर को 1 फरवरी की सुबह फांसी दी जानी थी। इस केस में अब चौथे दोषी पवन के पास दया याचिका दायर करने का विकल्प बचा है। । फांसी की नई तारीख के लिए सुप्रीम कोर्ट ने दी हरी झंडी निर्भया के दोषियों को अलग-अलग फांसी देने की केंद्र और दिल्ली सरकार की याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने नया डेथ वारंट जारी करने के लिए हरी झंडी दे दी है। कोर्ट ने चारों दोषियों को नोटिस जारी करते हुए उनकी अलग-अलग फांसी का मामला अपने पास स्थगित रखा है। इस पर 13 फरवरी को सुनवाई होगी। दोषियों के लिए मृत्यु वारंट मांगा निर्भया के माता-पिता ने दोषियों के लिए नया मृत्यु वारंट मांगा है। मामले पर दिल्ली की एक अदालत ने चारों दोषियों से जवाब मांगा। इस मामले पर बुधवार को सुनवाई होगी।