एस्टरॉयड बेनू से नमूना लाएगा नासा का स्पेसक्राफ्ट

एस्टरॉयड बेनू से नमूना लाएगा नासा का स्पेसक्राफ्ट

फ्लोरिडा । अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा का स्पेसक्राफ्ट ओएसआईआरआईएसआरईएक्स लंबे समय तक एस्टरॉयड बेनू की परिक्रमा के बाद इसकी सतह पर उतरने को तैयार है। गौरतलब है कि इस स्पेसक्राफ्ट को ऐस्टरॉयड से नमूना लाने के लिए ही भेजा गया था। यह यान बेनू की कक्षा में दिसंबर 2018 में ही पहुंच गया था, लेकिन सतह पर उतरने के लिए इसे लगभग दो साल का इंतजार करना पड़ा है। नासा ने कहा कि द ओरिजन्स, स्पेक्ट्रल इंटरप्रीटेशन, रिसोर्स आइडेंटिफिकेशन, सिक्योरिटीरीगोलिथ एक्सप्लोरर (ओएसआईआरआईएसआरईएक्स) स्पेसक्राफ्ट सतह से नमूना लेने के लिए 20 अक्टूबर को पहला प्रयास करेगा। नासा के एसोसिएट एडमिनिस्ट्रेटर ऑफ साइंस थॉमस ज़ुर्बुचेन ने कहा कि स्पेसक्राफ्ट  ने अब तक के अपने सफर के दौरान अप्रत्याशित चुनौतियों का सामना किया है। उन्होंने बताया कि पिछले महीने इससे जुड़े वैज्ञानिकों ने नमूना संग्रह रिहर्सल के दौरान अंतरिक्ष यान को ऐस्टरॉयड की सतह से 213 फीट (65 मीटर) की दूरी पर लाया है।

 कोरोना के कारण मिशन में हुई देरी

 जब स्पेसक्राफ्ट बेनू की सतह से नमूना लेने के लिए तैयार है, तब इससे जुड़ी टीम को धरती पर एक अलग तरह की चुनौती का सामना करना पड़ रहा है। कोरोना संक्रमण के कारण नासा केंद्र में मौजूद मिशन से जुड़े वैज्ञानिकों को फाइनल रिहर्सल और नमूना संग्रह कार्यक्रम के लिए अतिरिक्त समय प्रदान करने का निर्णय लिया गया है। अगर सबकुछ ठीक रहा तो यह अंतरिक्षयान सितंबर 2023 में धरती पर वापस आ जाएगा। इस मिशन में अमेरिका के वैज्ञानिकों के साथ कनाडा के वैज्ञानिकों ने भी काम किया ह