चांद-मंगल पर जाने नासा तलाश रहा अंतरिक्षयात्री

चांद-मंगल पर जाने नासा तलाश रहा अंतरिक्षयात्री

ह्यूस्टन। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा को चांद और मंगल पर जाने के लिए अगली पीढ़ी के अंतरिक्ष यात्रियों की तलाश है। इसके लिए अमेरिकी नागरिकता के साथ संबंधित विषय में मास्टर डिग्री होनी चाहिए और उसे धरती से 400 किलोमीटर ऊंचाई पर बने इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन पर रहने का तैयार रहना होगा। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के पास वर्तमान में 48 अंतरिक्ष यात्री हैं। नासा के एडमिनिस्ट्रेटिव जिम ब्रिडेनस्टाइन ने कहा, हम पृथ्वी की कक्षा में मौजूद इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन में लगातार मौजूद रहने का 20वें वर्ष का जश्न मना रहे हैं। हम 2024 में चांद पर पहली महिला और अगले आदमी को भेजने जा रहे हैं।

योग्यता: ये होनी चाहिए

 आवेदकों को इसके लिए साइंस, इंजीनियरिंग या मैथ्स में मास्टर डिग्री के साथ ही दो साल की पीएचडी हो तो और भी अच्छा होगा। ???? अगर आवेदक के पास मेडिकल डिग्री या ओस्टियोपैथिक मेडिसिन हो तो यह भी मददगार साबित होगा। ???? आवेदक के पास μलाइंग में दो साल का प्रोफेशनल अनुभव होना चाहिए और पायलट के लिए कम से कम 1000 घंटे का पायलट इन कमांड टाइम होना चाहिए।

1सैलरी : 50 लाख रुपए तक होगी

सैलरी आवेदन करने वालों का दो घंटे का एक आॅनलाइन टेस्ट लिया जाएगा। चयनित अभ्यर्थियों को नासा की ओर से 53,800 डॉलर (करीब 38.36 लाख रुपए) से 70,000 डॉलर (करीब 49.91 लाख रुपए) के बीच सैलरी दी जाएगी। नासा को उम्मीद है कि 2021 के मध्य तक उन्हें योग्य लोग मिल जाएंगे, जिसके बाद दो साल का ट्रेनिंग प्रोग्राम ह्यूस्टन के जॉनसन स्पेस सेंटर में होगा।