मोरटक्का ब्रिज अभी भी बंद, रविवार रात से पुल बंद होने से इंदौर-इच्छापुर हाईवे पर रुका ट्रैफिक

मोरटक्का ब्रिज अभी भी बंद, रविवार रात से पुल बंद होने से इंदौर-इच्छापुर हाईवे पर रुका ट्रैफिक

खंडवा/खरगोन/कुक्षी। खंडवा में नर्मदा नदी में लगातार जलस्तर बढ़ने से इंदौर-इच्छापुर हाईवे स्थित मोरटक्का पुल पर मंगलवार को भी ट्रैफिक बंद रहा, वहीं क्षमता से ज्यादा जलभराव के चलते इंदिरा सागर बांध के 12 गेट खोल दिए गए। ओंकारेश्वर बांध के 18 गेट से पानी छोड़ा जा रहा है। लगातार जलस्तर बढ़ने से मोरटक्का पुल से नर्मदा नदी छूने को है। मौसम विभाग ने खंडवा में यलो अलर्ट (भारी बारिश) जारी किया है।

तीन पुलिया में बहा रेलवे का रिटायर्ड कर्मचारी

खंडवा में सोमवार रात 12 बजे से शुरू हुई झमाझम बारिश का दौर मंगलवार सुबह 4 तक चला, जिससे शहर के आसपास के सभी छोटे- बड़े नाले उफन गए। तीन पुलिस पर अलसुबह तेज बहाव में रेलवे का एक रिटायर्ड कर्मचारी बह गया। हादसा अलसुबह हुआ। मृतक की पहचान संतोष मांगीलाल भलराय 55 निवासी गणेश तलाई के तौर पर हुई है। सूचना के अनुसार रात में हुई तेज बारिश के बाद तीन पुलिया अंडर ब्रिज पर पानी का बहाव काफी ज्यादा था। तेज बहाव में ही मांगीलाल ने नाले को पार करने की कोशिश की, जिससे उनका बैलेंस बिगड़ा और वे बह गए। सूचना के बाद तत्काल बचाव दल मौके पर पहुंचा और खोजबीन शुरू की।

पुलिस और प्रशासन मोरटक्का पुल पर मौजूद

प्रशासन ने सुरक्षा की दृष्टि से रविवार रात 11.40 बजे से ही मोरटक्का पुल से ट्रैफिक रोक दिया था। इस कारण रविवार रात से ही पुल के दोनों ओर वाहनों की कतार लग गई। मंगलवार को कतार और लंबी हो गई। छोटे वाहनों को एक्वाडक्ट पुल से निकाला गया। कई बड़े वाहन चालक बाढ़ का पानी कम होने के इंतजार में खड़े रहे तो कुछ देशगांव के रास्ते खलघाट होते हुए इंदौर की ओर निकल गए। पुलिस व प्रशासन के कर्मचारी पुल पर मौजूद हैं।

कुक्षी में बारिश का कहर, घरोंदुकानों में घुसा पानी

सोमवार रात से शुरू हुई बारिश के कहर से नगर के अनेक मकान व दुकानों मे पानी भरा गया। मंगलवारीय, लक्ष्मी कॉलोनी, सिनेमा चौपाटी, बढ़पुरा मस्जिद, भावसार मोहल्ला, रंगारा मोहल्ला,बस स्टैंड क्षेत्र में पानी सड़कों पर बह कर लोगों के घरों तक जा पहुंचा। नगर के बीचोबीच सिनेमा चौपाटी पर खोदरा (नाला) जमकर उफान पर आ गया। इससे आसपास के रहवासी घरों में ही कैद हो कर रह गए। वही नाले के समीप मिट्टी धंसने से राजेश सेन की दुकान धंस गई । गायत्री सरोवर भी ओवरμलो हो गया।

शाजापुर : दूसरे दिन भी जलमग्न रही महूपुरा रपट

मौसम के बरसाती मिजाज बदलने को तैयार नहीं है। सोमवार शाम को थमने के बाद मंगलवार अलसुबह से फिर बारिश ने जोर पकड़ा और करीब 6 घंटे तक लगातार बारिश होती रही। फलस्वरुप महूपुरा रपट से पानी नही उतरा। इस कारण अपनी दुकानों और घरों पर जाने वाले लोगों को लंबा सफर तय करना पड़ रहा है। बारिश जारी रहने से लखुंदर नदी उफान पर है जिसका पानी ग्राम जादमी की पुलिया से बह रहा है। इसके अलावा अन्य पुलियाएं भी लगातार जलमग्न रहने से गांवों का संपर्क शहर से टूट चुका है।

बड़वानी : राजघाट पर रिकॉर्ड स्तर पर पहुंची नर्मदा

जिले में मंगलवार शाम नर्मदा का जलस्तर अब तक के रिकॉर्ड 136.800 मीटर पर पहुंच गया है। इससे पूर्व 1970 में जलस्तर 136.680 मीटर तक पहुंचा था। जिला प्रशासन ने अब तक सबसे बड़ा रेस्क्यू आॅपरेशन करते हुए राजघाट के टापू बने हिस्से से 20 परिवारों को बाहर निकाला। नागदा में बिजली गिरने से दो भाइयों की मौत - समीपस्थ गांव खजूरिया में बिजली गिरने से दो चचरे भाइयों अर्जुन पिता प्रताप सिंह (32) और करण पिता हरिसिंह गुर्जर (23) पर खेत से लौटने के दौरान बिजली गिर गई। जिससे दोनों की मौके पर मौत हो गई।