Missing My of Tea

Missing My of Tea
Missing My of Tea
Missing My of Tea
Missing My of Tea

I AM BHOPAL चाय हमारी डेली लाइफ का सबसे एसेंशियल पार्ट है। दिन भी बिना चाय के शुरुआत नहीं होती। लॉकडाउन के पहले हो या लॉकडाउन के बाद सबसे पहले उठकर के ख्याल सिर्फ चाय का आता है और चाय ही हमारे दिन की शुरूआत कराती है। इंग्लिश में एक फ्रेज होता है 'my cup of tea' ।ऐसे में इस लॉकडाउन में बहुत सी ऐसी जगह है। जिन्हें आप मिस कर रहे होंगे। जैसे राजू टी स्टॉल पर चाय पीना और टी विले पर चाय की चुस्कियां लेना और इतवारा की रात में नमक वाली चाय, जो पिछले 60 दिनों में मिस कर रहे है। ऐसे ही सिटी यंगस्टर्स ने अपने हाल-ए-दिल आईएम भोपाल से शेयर किए और अपने फेवरेट स्पॉट्स को क्यों मिस कर रहे है बताया। जैसे ही सब कुछ ठीक हो जाएगा उन्होंने कहा ' my cup of tea' और सबसे पहले उन स्पॉट्स पर जाकर अपने फ्रेंड्स के साथ टाइम स्पेंड करेंगे।

 पीपुल्स समाचार से बातचीत में यंगस्टर्स ने कहा kI Want Back My Cup of Teal

टी पार्टनर के साथ चाय पीयूंगी

मेरा और मेरे भाई का स्टार्टअप है। मेरी अक्सर मीटिंग भी बाहर होती है और टी लवर भी हूं। मेरे साथ मेरी फ्रेंड पारुल दोहारे मेरी आॅलटाइम टी पार्टनर है। जिसके साथ मैं अक्सर हैंगऑउट  करने जाती हूं। मुझे जब भी कोई चाय पीने के लिए कोई कहता है एवररेडी रहती हूं। बिजनेस मीटिंग में भी चाय अक्सर हो जाती है और लॉकडाउन जब से हुआ है तब से मीटिंग्स बंद हो गई है। मैं चाहती हूं मेरे सिटी के फेवरेट कैफे फिर से स्टार्ट हो और फिर से मीटिंग्स पर जाकर चाय पी सकूं। -रतिका सिंह, आंत्रप्रेन्योर

 रात को दो बजे की चाय और तफरी मिस कर रहा

इस लॉकडाउन में मैं अपने फ्रेंड्स के साथ नाइट तफरी सबसे ज्यादा मिस कर रहा हूं। मेरी लाइफस्टाइल अलग हुआ करती थी। दिन भर शॉप पर रहता था रात में दोस्तों के साथ राजू टी स्टॉल पर चाय और बैरागढ़ बस स्टैंड पर रात को 2 बजे मैगी खाने जाते थे। मैं चाहता हूं जल्द से जल्द लॉकडाउन खत्म हो तो मैं अपनी पुरानी लाइफस्टाइल को फिर से जी पाऊंगा। साथ ही मुझे घूमने का शौक है और हर संडे केरवा डैम और कलियासोत डैम भी घूमने फ्रेंड्स के साथ जाता था। दोबारा वही लाइफ जीने का मौका मिलना चाहिए। - जतिन तोलानी, आंत्रप्रेन्योर

रेडियो स्टूडियो में इंटरव्यू के साथ चाय मिस कर रही 

अभी जहां हर व्यक्ति अपने घर में कैद है, ऐसी कईं चीजें हैं जिनकी हम कमी महसूस कर रहे हैं। मैं बीएसएसएस कॉलेज में रिदम रेडियो पर अपने शो सबसे ज्यादा मिस करती हूं। उस जगह पर इंटरव्यू लेना और चाय की चुस्कियों के साथ बातें करना मुझे सबसे ज्यादा याद आरहा है। हालांकी अभी घर से भी काम कर रही हूं, लेकिन जो फीलिंग स्टूडियो में मिलती है वह अलग होती है। साथ ही साथ अपने दोस्तों के साथ कैंटीन में बैठ कर चाय की चुस्कियां लेना और भारत भवन जाना सबसे ज्यादा याद आता है। - मुस्कान पाठक, बीएसएसएस स्टूडेंट

 फैमिली के साथ मूवी देखने जाना चाहता हूं

वैसे  तो मुझे फिल्में देखने का बहुत शौक है और उसके बाद उनका रिव्यु लिखना भी। इसके अलावा मैं खाने का बहुत शौकीन हूं और फ्रेंड्स के साथ अक्सर वीकेंड्स पर पार्टी करना मुझे बहुत पसंद है। सबसे ज्यादा होटल रणजीत लेक व्यू पर जाता था। उस जगह को सबसे ज्यादा मिस कर रहा हूं। इस लोकेशन की खास बात वहां से लेक व्यू का सीन । लॉकडाउन के पहले वाली लाइफ मुझे नहीं लगता उतनी जल्दी शुरू होगी, लेकिन मैं चाहता हूं मैं जिस लाइफस्टाइल के साथ एन्जॉय करता था फैमिली के साथ हाईवे पर चाय पीने जाता था वह वापस करने का मौका मिले। - स्पर्श द्विवेदी, सोशल वर्कर