मारुती सुजुकी की बड़ी घोषणा, अगले साल से बंद करेगी डीज़ल कार बनाना

मारुती सुजुकी की बड़ी घोषणा, अगले साल से बंद करेगी डीज़ल कार बनाना

देश की सबसे बड़ी वाहन निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी ने आज घोषणा की कि वह 1 अप्रैल, 2020 से डीजल वाहनों को बनाना बंद कर देगी । कंपनी ने आज बयान जारी कर कहा की 1 अप्रैल, 2020 से भारत स्टेज VI उत्सर्जन मानदंडों को ध्यान में रखते हुए 1.5 लीटर से कम डीजल इंजन वाले सभी मॉडलों का प्रोडक्शन बंद करेगी । कॉम्पैक्ट सेगमेंट की लगभग सभी गाड़ियां इसी श्रेणी के इंजन के साथ आती हैं। मारुति सुजुकी स्विफ्ट, इग्निस, बलेनो, सियाज, एर्टिगा, एस-क्रॉस, विटारा ब्रेज़ा सभी इसी इंजन का उपयोग करती हैं। 

कंपनी डीजल वाहनों के प्रोडक्शन को चरणबद्ध तरीके से कम करेगी और इस श्रेणी में होनी वाली भरपाई के लिए सीएनजी (CNG) और हाइब्रिड तकनीक वाले वाहनों के निर्माण पर ध्यान केंद्रित करने की कोशिश करेगी।

कंपनी ने बयान जारी कर कहा की जल्द ही गाड़ियों में नए बीएस 6 उत्सर्जन मानदंड पेश किए जाएंगे। इसके अलावा मौजूदा डीजल इंजन को बीएस 6 मानदंडों में अपग्रेड करने की उच्च लागत ने कंपनी को इस तरह का निर्णय लेने के लिए प्रेरित किया।

उल्लेखनीय है की दिल्ली जैसे शहरों में जहां डीजल कारों पर भारी टैक्स लगाया जाता है, वहां डीज़ल कारों की मांग में तेजी से गिरावट आई है ।  इसके अलावा डीज़ल कारों के रजिस्ट्रेशन भी पत्र केवल 10 वर्षों के लिए वैध होते हैं, जबकि पेट्रोल कारों को अभी भी 15 साल की वैधता मिलती है। इससे डीजल कारों की रीसेल वैल्यू पर भी खासा असर पड़ा पड़ा है ।