क्रिकेट मैच में कोरोना संक्रमण का खतरा कम

क्रिकेट मैच में कोरोना संक्रमण का खतरा कम

 नई दिल्ली । कोरोना महामारी के बीच इंग्लैंड में जल्द क्रिकेट खिलाड़ी प्रैक्टिस शुरू करेंगे। इस बीच यूनिवर्सिटी आॅफ एक्सेटर आॅफ मेडिसिन एंड हेल्स के लेक्चरर डॉक्टर भरत पंखनिया ने कहा कि इस खेल के दौरान क्रिकेट में खिलाड़ियों को संक्रमण कम होता है। ग्राउंड ओपन एरिया होने से संक्रमण का फैलाव और उसका प्रभाव कम हो जाता है। यदि खिलाड़ी द्वारा गेंद पर लार का उपयोग होता है तो संक्रमण हो सकता है। लेक्चरर पंखनिया ने कहा है कि एक खेल के दौरान साथी खिलाड़ियों को कोरोनो वायरस फैलाने का जोखिम कम होता है।

मैच में अंपायर पर भी संक्रमण का खतरा कम

हा कि गेंद पर लार से संक्रमण हो सकता है। गेंद के संक्रामक होने की उम्मीद कम है। ओपन एरिया और शुष्क वातावरण एक सही जगह है। बल्लेबाजी के दौरान पास खड़ा फील्डर को थोड़ा खतरा है। अंपायर पर भी खतरा कम होगा।

लंकाशायर ने कहा- दर्शकों के साथ मैच करा सकते है

इंग्लैंड में जुलाई से इंटरनेशनल क्रिकेट की वापसी होनी है। इस बीच काउंटी क्लब लैंकाशायर ने इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) को पत्र लिखकर दर्शको के साथ टेस्ट मैच कराने की बात की है। ओल्ड ट्रेफर्ड मैदान पर टेस्ट खेला जाना है। लंकाशायर के सीईओ डेनियल गिडने ने कहा लोग कहते हैं कि सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मैच नहीं हो सकते, लेकिन मेरे हिसाब से दो से तीन हजार लोगों की जगह खाली करके 25 हजार दर्शक क्षमता वाले स्टेडियम में आसानी से डिस्टेंसिंग का पालन किया जा सकता है।

जून से क्रिकेट खेल शुरू कर सकता है बीसीसीआइ

नई दिल्ली । कोरोना वायरस महामारी के चलते भारत में बीते दो महीने से क्रिकेट गतिविधियां थमी हुई हैं। इस बीच राहत की खबर है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) देश में अगले महीने से खेल की शुरुआत कर सकता है। कर्नाटक में जरूरी ऐहतियाती कदम उठाते हुए व्यापार खोलने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। बीसीसीआई भी भारतीय क्रिकेट में गतिविधियां अगले महीने बेंगलुरु स्थित नैशनल क्रिकेट अकादमी से ही शुरू करना चाहता है।