अयोध्या आतंकवादी हमले के चार अभियुक्तों को उम्रकैद

अयोध्या आतंकवादी हमले के चार अभियुक्तों को उम्रकैद

प्रयागराज। अयोध्या में विवादित राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद परिसर में हुए आतंकवादी हमले के मामले में लगभग 14 साल की लंबी सुनवाई के बाद मंगलवार को विशेष अदालत ने चार अभियुक्तों को उम्र कैद की सजा सुनाई गई जबकि एक को साक्ष्य के अभाव में बरी कर दिया । विशेष न्यायाधीश (अनुसूचित जाति/ जनजाति) दिनेशचंद्र में हमले में शामिल पांच में से चार लोगों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। अदालत में चारों अभियुक्तों इरफान, आसिफ, इकबाल उर्फ फारुकी शकील अहमद पर दो लाख 40 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया जबकि मोहम्मद अजीज को स्पेशल ट्रायल कोर्ट ने साक्ष्य के अभाव में सभी आरोपों से बरी कर दिया। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फैसले का स्वागत किया है। श्री योगी ने एक बयान जारी कर पांचवें आरोपी को बरी करने की वजह जानने की इच्छा जताई है। अयोध्या में विवादित राम जन्मभूमि परिसर में पांच जुलाई 2005 को आतंकी हमला हुआ था जिसमें एक टूरिस्ट गाइड समेत सात लोगों की मौत हो गई थी। सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई में पांच आतंकवादी मारे गए थे। मुठभेड़ के दौरान केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) और पीएसी के सात जवान गंभीर रूप से घायल हो गए थे।