तंत्र-मंत्र के नाम पर लाखों रुपए ठगे

तंत्र-मंत्र के नाम पर लाखों रुपए ठगे

इंदौर  एक युवक ने पहले तंत्र-मंत्र करने के नाम पर युवती से लाखों रुपए ऐंठ लिए। इसी दौरान युवक ने उसे नशीला पदार्थ खिलाकर उसके साथ दुष्कर्म कर लिया। बात किसी को बताने पर धमकी दी, बाद में तांत्रिक ने कई बार शारीरिक संबंध बनाए। इस बीच पांच लाख रुपए और ऐंठ लिए। युवती को ठगी का एहसास हुआ तो उसने पुलिस की शरण ली। घटना लसूड़िया थाना क्षेत्र के ग्राम अरंडिया पंचायत के पास लसूड़िया की है। पुलिस ने बताया कि यहां की एक युवती ने शिकायत दर्ज कराई है कि वह प्रायवेट नौकरी करती है। उसकी मां को सिर दर्द होने पर वह नवंबर-2018 में तांत्रिक जाकिर पिता रफीक शाह निवासी ग्राम रूपाखेड़ी देवास के संपर्क में आई। तांत्रिक जाकिर ने मेरी मां से कहा कि आपके घर में अला-बला है। उसे दूर करने के लिए पूजा-पाठ करना पड़ेगा। इसके लिए पांच लाख रुपए लगेंगे। तांत्रिक जाकिर बोला कि पूजा-पाठ नहीं करेंगे तो अनर्थ हो जाएगा। युवती का कहना है कि मेरी मां और पिता ने पांच लाख रुपए उसे दिए। एक दिन मेरी मां राजस्थान गई थी, तभी जाकिर पूजा करने घर आया। उसने मुझे सामने बैठाया और पूजा शुरू की। उसने मुझे प्रसाद खाने के लिए दिया। मैं बेहोश होने लगी तो उसने मेरे साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाए। होश में आने पर मैंने विरोध किया तो बोला- चुप रहना, नहीं तो पूजा छोड़ दूंगा, जिससे तुम्हारे घर में अनर्थ हो जाएगा। इसके बाद वह उस समय आता, जब मां िपता नहीं रहते, फिर पूजा करने के बहाने संबंध बनाता था। इसके बाद जाकिर ने मां को फिर पांच लाख रुपए पूजा-पाठ के लिए देने के लिए कहा। मां ने एलआईसी से लोन लेकर पांच लाख रुपए उसे दिए, इसके बाद जाकिर ने पूजा-पाठ करना बंद कर दिया। उसका मोबाइल भी बंद आ रहा है। पुलिस ने युवती की शिकायत पर धोखाधड़ी, जबरदस्ती सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज किया है।

शेयर निवेश के नाम पर धोखाधड़ी

इंदौर। धोखाधड़ी के एक मामले में पुलिस ने दो लोगों पर केस दर्ज किया है। विजयनगर थाने में दयानंद शर्मा ने आवेदन दिया था। इसमें कहा गया था कि दयानंद ने निवेश के लिए विजय मित्तल व मयंक को लाखों रुपए का भुगतान किया था। इसके बाद न तो दयानंद को कोई लाभ मिला और न ही आरोपियों ने पैसे वापस लौटाए। पुलिस ने दोनों आरोपियों पर धोखाधड़ी व अमानत में खयानत का मामला दर्ज किया है। इसी तरह एमजी रोड पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री नीलाभ पर केस दर्ज किया। आरोपियों ने सुपुदर्र्गीनामे पर मिला माल कोर्ट में पेश नहीं किया। पुलिस मामले में कार्रवाई कर रही है।