काव्यरंजना फाउंडेशन ने नारी शक्ति का किया सम्मान

काव्यरंजना फाउंडेशन ने नारी शक्ति का किया सम्मान

भोपाल  ।  दुष्यंत कुमार पांडुलिपि संग्रहालय में रविवार को काव्यरंजना फाउंडेशन ने नारी शक्तियों का सम्मान किया। दिव्यांग चित्रकार, कवयित्री रंजना मालवीय के जन्मदिन पर उसकी स्मृति में हुए कार्यक्रम में मध्यप्रदेश माध्यम में प्रधान संपादक पुष्पेंद्र पाल सिंह, आकाशवाणी की जानी-मानी उदघोषिका जया आर्य और हिदी के साहित्यकार, आलोचक डॉ. ओम निश्छल, दुष्यंत संग्रहालय के निदेशक राजुरकर राज और नेहरू युवा केन्द्र के जिला कार्यक्रम समन्वयक सुरेंद्र शुक्ला भी विशेष अतिथि के रूप से उपस्थित थे। कार्यक्रम में 6 अक्टूबर 2015 में इस फानी दुनिया को अलविदा कहने वाली चित्रकार, कवियत्री रंजना मालवीय के व्यक्तित्व और कृतित्व पर एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म दिखाई गई। इसके बाद रंजना के पापा एचपी मालवीय ने बेटी के संघर्ष को बयां किया। इसके बाद रुषाली, मुस्कान और दीपेश ने बेखौफ आजाद है जीना मुझे गीत सुनाया। इसके बाद अतिथियों ने 12 महिला विभूतियों को सम्मानित किया।

इनका हुआ सम्मान

दिव्यांग मोटिवेशनल स्पीकर पूनम श्रोती, जानी-मानी एंकर और थिएटर आर्टिस्ट कविता इसराणी, डेंटिस्ट और सोशल वर्कर डॉ. मेधा भूषण, दिव्यांग इंटरनेशनल बैडमिंटन प्लेयर गौरांशी शर्मा, वर्ल्ड ट्रांसप्लांट गेम्स में इंडिया की तरफ से एथलेटिक्स में दो गोल्ड और एक सिल्वर मेडल जीतने वाली अंकिता श्रीवास्तव, भरतनाट्यम डांसर, शूटर नीलम त्रिपाठी, आरजे अनादि, सोशल एक्टिविस्ट रोली शिवहरे, सिरेमिक आर्टिस्ट निर्मला शर्मा, अपना घर की संचालिका माधुरी मिश्रा को समान्नित किया गया। दिव्यांग सीए, मोटिवशनल स्पीकर रही स्वर्गीय सांत्वना आरस का सम्मान उनके मम्मी-पापा ने लिया।