भारतीय जीवन बीमा निगम की सकल आय में शानदार बढ़ोतरी

भारतीय जीवन बीमा निगम की सकल आय में शानदार बढ़ोतरी

भोपाल। भारत के सबसे बड़े जीवन बीमाकर्ता भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी आफ इण्डिया) के द्वारा मार्च 2019 को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष के लिए अंकेक्षित आंकड़ों की घोषणा कर दी गई है। निगम के द्वारा मार्च 2019 को समाप्त वित्तीय वर्ष के दौरान नव व्यवसाय के क्षेत्र में अभी तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 5.68 प्रतिशत वृद्धि दर के साथ प्रथम वर्षीय प्रीमियम के रूप में 1,42,191.69 करोड़ रुपए की राशि एकत्रित की गई। पेंशन एवं समूह बीमा व्यवसाय के अन्तर्गत गत वित्तीय वर्ष में नव व्यवसाय के रूप में अर्जित प्रीमियम आय 82,807,83 करोड़ रुपए की तुलना में इस वर्ष की समान अवधि में 10.11 प्रतिशत की वृद्धि दर दर्शाते हुए 91,179.52 करोड़ रुपए की राशि एकत्रित की गई। निगम के द्वारा मार्च 2019 के अंत तक 3,37,185.40 करोड़ रुपए कुल प्रीमियम आय के रूप में संग्रहित किए गए, जो कि गत वर्ष इसी अवधि के दौरान प्राप्त 3,17,850.99 करोड़ रुपए की तुलना में 6.08 प्रतिशत की बेहद मजबूत वृद्धि दर को दर्शाते हैं। 31 मार्च 2019 को समाप्त वित्तीय वर्ष के दौरान कुल पॉलिसी भुगतान की राशि 2,50,936.23 करोड़ रुपए रही, जो कि गत वर्ष की इसी समयावधि के लिए 1,98,119.83 करोड़ रुपए की तुलना में 26.66 प्रतिशत अधिक रही । इन भुगतानों में 254.05 लाख दावेदारों को जोखिम सुरक्षा प्रदान करते हुए परंपरागत दावों के रूप में दी गई 1,36,597.37 करोड़ रुपए की राशि भी शामिल है । निगम की कुल सकल आय 31 मार्च, 2019 को समाप्त अवधि के दौरान बढ़कर 5,60,784.39 करोड़ रुपए हो गई है, जो कि गत वर्ष की तुलना में 7.10 प्रतिशत की शानदार वृद्धि दर को दर्शाती है। निगम की कुल परिसंपत्तियां 31,11,847.28 करोड़ रुपये की हैं, ये गत वर्ष की 28,45,041.82 करोड़ रुपए की तुलना में 9.38 प्रतिशत की दर से अधिक हैं। एलआईसी डिजिटल संग्रहण एलआईसी कस्टमर पोर्टल, पेटीएम, अधिकृत अभिकर्ताओं अधिकृत बैंक एवं संग्रहण एजेंसियों जैसे सीएससी, एमपी आॅनलाइन आदि के द्वारा कहीं भी कभी भी 60 प्रतिशत तक हो गया है, जो कि पिछले वर्ष के संग्रहण पर 38 प्रतिशत की वृद्धि को दर्शाता है। निगम के द्वारा की गई नई पहल के अन्तर्गत यूपीआई, भीम एप द्वारा प्रीमियम संग्रहण में 106 प्रतिशत की वृद्धि देखने को मिली। एलआईसी के द्वारा आईडीबीआई बैंक की 1800 से अधिक शाखाओं को भी पॉलिसीधारकों की परवर्ती प्रीमियम संग्रहित करने के लिए अधिकृत किया गया है। गत वर्ष सितंबर माह में शुभारंभ किए गए निगम के केंद्रीकृत डिजिटल कॉल सेन्टर को 022- 68276827 नंबर पर उपयोग में लाया जा सकता है। एलआईसी अपने पॉलिसीधारकों के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबरों के माध्यम से 150 से अधिक विविध प्रकार के एसएमएस प्रेषित करती है, जो कि नव व्यवसाय की प्रारम्भिक अवस्था से शुरू होकर दावा भुगतान तक से संबंधित होते हैं। एलआईसी का माय एलआईसी मोबाइल एप विभिन्न जानकारियों एवं सेवाओं के साथ ही प्रीमियम भुगतान की सुविधा भी मुहैया करवाता है।