शुद्धता के नाम पर बढ़ी महंगाई की मार त्योहार पर जेब होगी अधिक ढीली

शुद्धता के नाम पर बढ़ी महंगाई की मार त्योहार पर जेब होगी अधिक ढीली

ग्वालियर  । मिलावटियों पर प्रशासन के नेतृत्व में फूड विभाग की टीम द्वारा की गई कार्रवाई का असर बाजार पर नजर आ रहा है, दुकानदारों ने कार्रवाई के बाद वस्तुओं के दामों में इजाफा कर दिया है। रेट्स में यह बढ़ोतरी की गई है शुद्वता के नाम पर पिछले कुछ दिनों में मिठाई व दूध डेयरी के प्रोडक्ट में तेजी आ गई है। मावा पर कार्रवाई की वजह से मिठाई के दाम 20 फीसदी से अधिक हो गए है तो दूसरी ओर दूध व घी पर की गई कार्रवाई की वजह से पनीर, व घी के दामों खासा इजाफा हो चुका है। माल की शार्टेज व बेहतर क्वालिटी के नाम पर पड़ रही महंगाई का असर आने वाले त्योहारी सीजन में नजर आने वाला है। एक दिन बार स्वतंत्रता दिवस के साथ-साथ भाई बहन के प्यार का त्योहार रक्षां बंधन है। यानि कि रक्षा बंधन के त्योहार पर बहनों को अपने भाई का मुंह मीठा कराने के लिए पहले की तुलना में अब अधिक जेब ढीली करनी पड़ेगी।

मावा का बाजार रह गया 20 फीसदी

कारोबारियों की माने तो प्रशासन द्वारा की गई सैपलिंग की कार्रवाई का असर बाजार पर पड़ा है पहले की तुलना में मावा का बाजार अब 15 से 20 फीसदी ही रह गया है यहां पर जो पहले कार्रवाई से पहले हर दिन करीब 50 क्विंटल मावा की सेल हो जाती थी वह अब घटकर करीब 5 क्विंटल रह गई है। कार्रवाई के डर से व्यापारी माल नहीं मंगा नहीं है जिसकी वजह से दामों में इजाफा हो गया है 19 जुलाई से पहले 160 से 180 मिलने वाला मावा के भाव इन दिनों मोर बाजार में 240- 300 रुपए के भाव बिक रहा है। वहीं मोर बाजार एसोसिएशन के पदाधिकारियों का कहना है कि हम मिलवाटियों के साथ नहीं है इसी की वजह से मिलावट का माल बेचने वाले पर दुकानदार पर 11 हजार रुपए का जुर्माना एवं बाजार से निष्काष्न की कार्रवाई की जाएगी।

मांग के साथ बढ़ेगी रेट

करोबारियों का कहना है कि रक्षाबंधन के बाद से त्योहारी सीजन शुरू हो रहा है। इसके बाद लगातार त्योहार हैं और डिमांड और बढ़ने वाली है। जिसकी वजह से दामों में और इजाफा होने की उम्मीद है। हालांकि रक्षाबंधन के त्याहार पर इस बार मावा की मिठाई की तुलना में बेसन, व छैना आदि की मिठाई की अधिक डिमांड रहने वाली है। इसकी मुख्य वजह 19 जुलाई के बाद प्रशासन के नेतृत्व में फूड विभाग द्वारा की गई कार्रवाई के बाद मिलावटियों को सच सामने आना है।