राज्यों में बाढ से तबाही को राष्ट्रीय आपदा घोषित करे सरकार: कांग्रेस

राज्यों में बाढ से तबाही को राष्ट्रीय आपदा घोषित करे सरकार: कांग्रेस

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने केन्द्र में भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार पर विभिन्न राज्यों में बाढ के कारण जान और माल के नुकसान पर असंवेदनशील और गैर जिम्मेदाराना रवैया अपनाने का आरोप लगाते हुए प्रभावित राज्यों के लिए बिना भेदभाव के आर्थिक सहायता जारी करने और बाढ से हुई तबाही को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग की है। कांग्रेस के प्रवक्ता जयवीर शेरगिल ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि नौ राज्यों में बाढ के कारण भीषण तबाही हुई है लेकिन सरकार पूरी तरह गैर जिम्मेदाराना रवैया अपनाते हुए इस ओर ध्यान नहीं दे रही है। उन्होंने कहा कि बाढ के कारण सैकड़ों लोग मारे गये हैं और संपत्ति का भारी नुकसान हुआ है। कांग्रेस नेता ने कहा कि सरकार दावा कर रही है कि संसद का मानसून सत्र पूरी तरह सफल रहा है लेकिन इसकी सफलता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि बाढ के मुद्दे पर पूरे सत्र के दौरान कोई भी चर्चा नहीं करायी गयी। यह सरकार की असंवेदनशीलता और गैर जिम्मेदाराना रवैये का उदाहरण है। उन्होंने कहा कि पिछले तीन सालों में देश में बाढ के कारण 6 हजार 580 लोगों की जान गयी और इस साल भी गत 1 अप्रैल से जुलाई तक हर रोज पांच लोगों की मौत बाढजनित कारणों से हो रही है लेकिन सरकार कुंभकरण की नींद सोई हुई है। कांग्रेस नेता ने कहा कि पार्टी बाढ प्रभावित राज्यों के संदर्भ में सरकार से चार मांग करती है। पहली इस तबाही को राष्ट्रीय आपदा घोषित करते हुए प्रभावित राज्यों को सहायता दी जाये। दूसरा बिना भेदभाव के इन सभी राज्यों को आर्थिक मदद दी जानी चाहिए। तीसरा सरकार बाढ से निपटने की तैयारियों , प्रबंधन और प्रभावित लोगों के पुनर्वास के बारे में श्वेत पत्र लेकर आये। चौथा भाजपा ने लोकसभा चुनाव में जित तरह दिल खोलकर पैसा खर्च किया है उसी तरह की दरियादिली बाढ पीडितों की सहायता में दिखाते हुए राशि खर्च की जानी चाहिए।