इंजीनियरिंग विद्यार्थियों के लिए गोल्ड मेडल सेरेमनी 

इंजीनियरिंग विद्यार्थियों के लिए गोल्ड मेडल सेरेमनी 
गोल्ड मैडल सेरेमनी को संबोधित करते अतिथि।

एसजीएसआईटीएस इंदौर में सिविल इंजीनियरिंग विभाग और इस इंदौर चैप्टर के संयुक्त तत्वावधान में  इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट में भूगर्भ  आधारित चुनौतियों पर एक दिवसीय एक्सपर्ट लेक्चर और संस्थान के सिविल इंजीनियरिंग संकाय में विशिष्ट योग्यता वाले विद्यार्थियों के लिए गोल्ड मेडल सेरेमनी का आयोजन किया गया।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ. अशोक शर्मा प्रोफेसर एंड हेड केमिकल साइंस डीएवीवी इंदौर, विशिष्ट अतिथि विवेक श्रोत्रिय सीईओ इंदौर विकास प्राधिकरण इंदौर, संस्थान के डायरेक्टर डॉ. राकेश सक्सेना, सिविल संकाय के विभागाध्यक्ष डॉ. विजय रोडे, इंडियन सोसाइटी के चेयरमैन डॉ. हेमंत कुमार महीयर तथा इंडियन सोसाइटी डॉ. वंदना तारे की विशिष्ट उपस्थित में संपन्न हुआ।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ. अशोक शर्मा प्रोफेसर एंड हेड केमिकल साइंस द्रव्य इंदौर भूगर्भ आधारित शोध पर उसकी भविष्य में जरूरत  पर अपनी बात रखी। 
उक्त के उपरांत प्रतिभान विद्यार्थियों को गोल्ड मेडल से सम्मानित किया। एक्सपर्ट लेक्चर (1)के लिए आमंत्रित डॉ. के. इसरओ द्वारा चिनाब नदी पर विश्व के सबसे बड़े ब्रिज सृजन की व्यापक केस स्टडी से अवगत कराया।
एक्सपर्ट लेक्चर (2)के लिए आमंत्रित इंजीनियर रविकांत वैद्य द्वारा डीप फाउंडेशन में नवीन तकनीक के उपयोग और उसके वैज्ञानिक प्रयोग से अवगत कराया।
एक्सपर्ट लेक्चर (3) के लिए आमंत्रित डॉ. नीलिमा सत्यमीत इंदौर द्वारा मृदा लिक्विफेक्शन और मृदा के कणों के उसके प्रगतिरोधक के रूप में प्रयुक्त होने से अवगत कराया। कार्यक्रम में लगभग 150 विद्यार्थी, 20 कंसल्टिंग इंजीनियर और करीब 30 शिक्षक सम्मिलित हुए।