कचरा गाड़ी वाले नहीं ले रहे अनाज के आर्डर

  कचरा गाड़ी वाले नहीं ले रहे अनाज के आर्डर
कचरा गाड़ी

मल्टी में रहने वाले परेशान, जिम्मेदारों ने साधी चुप्पी, 65 हजार में से 40 हजार ही आर्डर पूरे कर पाया निगम
 खाद्य सामग्रियों की आपूर्ति के लिए निगम मिलें खुलवाने की तैयारी में 
नगर निगम दीनदयाल रसोई योजना के तहत गरीबों की भूख मिटाने का काम लगातार कर रहा है। इस योजना के तहत निगम खजराना गणेश मंदिर में बनी भोजनशाला में प्रतिदिन गरीबों के लिए साढ़े तीन हजार भोजन पैकेट बनाकर शहर के जरूरतमंदों को वितरित कर रहा है। दूसरी ओर लोग लगातार शिकायत कर रहे हैं कि उनके यहां आने वाली कचरा गाड़ी वाले जरूरी सामानों का आर्डर नहीं ले रहे हैं। इसी प्रकार खाद्य सामग्रियों की आपूर्ति बनाए रखने के लिए नगर निगम शहर की दाल, चावल, तेल की मिलें खुलवाने की तैयारी कर रहा है। इस मामले में निगम मिल संचालकों से चर्चा कर रहा है। इस बीच निगम आयुक्त ने कहा कि लोगों के अनाज के आर्डर नहीं लेने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।  
आर्डर नहीं लेने पर आमजन परेशान- लॉकडाउन और कर्फ्यू में लोगों का चूल्हा आसानी से जल सके, इसलिए निगम ने कचरा गाड़ियों के साथ चल रहे कर्मचारी को किराना सामान के आर्डर लेने को कहा है। मल्टी में रहने वाले लोगों के आर्डर नहीं लिए जाने से आमजन परेशान हैं। शिकायत के बाद भी जिम्मेदार चुप्पी साधे बैठे हैं। चार दिन पहले निगमायुक्त आशीषसिंह ने कचरा गाड़ी संचालकों को कहा था कि वे कचरा कलेक्शन के दौरान लोगों से किराना सामान के आर्डर लें। आर्डर सूची भी सार्वजनिक की थी। इस संबंध में कनाड़िया निवासी ललित यादव ने बताया कि निगम ने आवश्यक सामग्रियों के आर्डर देने की जो व्यवस्था की है, उसका ठीक तरीके से परिपालन नहीं हो रहा है, क्योंकि गाड़ी वाले आॅर्डर नहीं ले रहे है। जिसके कारण कई लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है।