जेयू के सर्वर रूम में लगी आग, छात्रों का रिकॉर्ड जलने से बचा

जेयू के सर्वर रूम में लगी आग, छात्रों का रिकॉर्ड जलने से बचा

ग्वालियर। जीवाजी विवि के सर्वर रूम में मंगलवार को शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। आग लगने से रूम में बैठे कर्मचारी आग-आग कहते हुए बाहर की ओर भागे। कर्मचारियों ने रूम के बाहर लगे अग्निशमन यंत्र से आग बुझाने का प्रयास किया, मगर यंत्रों ने काम नहीं किया, क्योंकि इनकी डेट निकल चुकी थी। सर्वर रूम में आईटी कॉर्डिनेटर संजय बरथरिया सुबह 11 बजे पहुंचे और कुछ देर बैठने के बाद एसी चालू किया। स्विच ऑन करते ही शॉर्ट सर्किट हुआ और एसी में आग लग गई। आईटी कॉर्डिनेटर के साथ-साथ रूम में बैठे अन्य कर्मचारी भी बाहर भागे। आग लगने के कारण कुछ ही देर में कमरे से धुंआ विवि के प्रशासनिक भवन में फेल गया। कर्मचारियों ने रूम के बाहर लगे अग्निशमन यंत्रों से आग बुझाने की कोशिश की, मगर एक्सपायरी डेट निकल जान के कारण यंत्रों ने काम नहीं किया। इसके बाद कर्मचारियों ने सही अग्निशमन यंत्रों और पानी के जरिए आग पर काबू पाया। आग लगने के कारण कर्मचारी प्रशासनिक भवन के बाहर इकट्ठे हो गए थे। कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला भी मौके पर पहुंचीं और कुछ देर देखने के बाद अपने कार्यालय में आ गई ।

सीढ़ी मंगाई और खिड़की के कांच तोड़े :

सर्वर रूम में आग लगने के कारण कमरे में धुंआ ही धुंआ हो गया था, कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था, इसलिए प्रशासनिक भवन के बाहर सीढ़ी के जरिए रूम की खिड़की के कांच तोड़े गए। इसके बाद कमरे में धुंए का स्तर कम होने पर कर्मचारियों ने आग बुझाने के लिए बाल्टियों के जरिए पानी डाला।

कुलपति ने अग्निशमन यंत्र रीफिल कराने के आदेश दिए:

जेयू के प्रशासनिक भवन में स्थित विभागों और अध्ययनशालाओं में लगे अग्निशमन यंत्र बेकार हो चुके हैं। कुलपति प्रो. शुक्ला ने एक्सपायर हो चुके अग्निशमन यंत्रों को रीफिल कराने के आदेश दे दिए हैं।