ईओडब्ल्यू ने डिजिटल सिग्नेचर बेचने वाली एमपी नगर की दो फर्मों पर छापे मारे, हार्डडिस्क जब्त कीं

ईओडब्ल्यू ने डिजिटल सिग्नेचर बेचने वाली एमपी नगर की दो फर्मों पर छापे मारे, हार्डडिस्क जब्त कीं

भोपाल  बेंगलुरु से जब्त एंटारेस आईटी सॉल्युशन के सर्वर से फॉरेंसिक इमेज के डेटाबेस में मिले अहम साक्ष्यों के बाद ईओडब्ल्यू ने शनिवार को एमपी नगर स्थित दो फर्मों में छापा मारा। ईओडब्ल्यू की टीम ने दोनों फर्माें के कार्यालय के कंप्यूटरों से हार्ड डिस्क और अन्य दस्तावेज जब्त किए। सूत्रों की मानें तो अब तक की पूछताछ में ईओडब्ल्यू को जानकारी मिली है कि ई-टेंडरिंग घोटाले में जिन डिजिटल सिग्नेचर का दुरुपयोग कर छेड़छाड़ की गई थी, इनमें से एंटारस आईटी सॉल्युशन कंपनी व अन्य कंपनियों के थे। जो डिजिटल सिग्नेचर बेचने के लिए अधिकृत राजधानी की कुछ फर्मों द्वारा दिए गए थे। ऐसे में शनिवार शाम चार इंस्पेक्टरों की टीम ने सनी पैलेस, एमपी नगर जोन 1 स्थित बालाजी इंटरप्राइजेज और शबरी कॉम्पलेक्स स्थित विजन इंटरप्राइजेज के कार्यालयों में दबिश दी। दोनों फर्मों के कंप्यूटर का डेटा जब्त करने हार्डडिस्क जब्त की है।

एंटारेस के तीन अफसर भूमिगत

10 दिन की पूछताछ के बाद गिरफ्तार हुए वाइस प्रेसिडेंट मनोहर एमएन के पीआर में जाने के बाद कर एंटारस के सीईओ सुरेश कुमार समेत अन्य तीनों अफसर भूमिगत हो गए। सूत्रों की मानें तो चारों अफसर पिछले सप्ताहभर से रोज बयान देने के लिए ईओडब्ल्यू पहुंच रहे थे, लेकिन वाइस प्रेसिडेंट की गिरफ़्तारी और पीआर के बाद शुक्रवार से ही तीनों अफसर गायब हो गए। जो शनिवार को भी बयान के लिए ईओडब्ल्यू नहीं पहुंचे।

अब टीसीएस पर कसेगा शिकंजा

एंटारेस के वाइस प्रेसिडेंट की गिरफ़्तारी और सीईओ के बयान दर्ज करने के बाद अब ईओडबल्यू टीसीएस कंपनी के संचालकों पर कार्रवाई करने की तैयारियों में है। कंपनी को नोटिस जारी किए जा चुके हैं, हालांकि अब तक कोई अधिकारी बयान दर्ज कराने नहीं पहुंचा है। ऐसे में ईओडब्ल्यू की टीमें उन्हें दबोचने की रणनीति बना रही है।

दो दिनों में नामजद आरोपियों की गिरफ्तारियां होंगी

ईओडब्ल्यू के सूत्रों के अनुसार अगले दो दिनों में एफआईआर में नामजद रामकुमार नरवानी प्रा.लि. के रामकुमार नरवानी, महेश नरवानी, सुमन नरवानी, जीवीपीआर कंपनी के सीएसपी वीरा रेड्डी, जी वीरा, शेखर रेड्डी, जेएमसी प्रोजेक्ट इंडिया के हेमंत ईश्वर लाल लोधी, मनोज तुलसीयान, द इंडियन ह्यूमन पाइप के राजेश आर दोषी, सोराठिया कंपनी के मगजी वेलजी सोरठिया, महेश वेलजी सोरठिया एवं सात, मैक्स इंफ्रा के डॉ. फानीकुमार रेडडी, मेंटेना इंफ्रा के श्रीनिवास एम और माधव इंन्फा के अमित अशोक खुराना, राशिका विक्रम सिंह चौहान की गिरफ़्तारीयों के लिए कार्रवाईयां की जाना है।